क्या है ये सुपरफूड? जानिए इसकी जरूरी बातें


1 पहला तो यह, कि आप दिन में एक ग्रहण करके एक खराब डाइट की पूर्ति नहीं कर सकते। जैसे पिज्जा खाने के बाद सब्जा लेमोनेड या अन्य पोषक डाइट...बिल्कुल नहीं।
 
2 इस तरह से काम नहीं चलेगा, आपको इन सुपरफूड को दिल से अपनाना होगा, और बिना युक्त खाद्य पदार्थों की जगह इन्हें स्थान देना होगा।एक या दो सुपरफूड पर फोकर करके, अन्य को अनदेखा करना भी बिल्कुल सही नहीं है। कोई एक सुपरफूड हर किसी को सब कुछ नहीं दे सकता। आपको इनमें वैरायटी रखन होगी, ताकि अलग-अलग पोषण लाभ ग्रहण किए जा सकें। 
 
3 यह जरूरी नहीं कि महंगे, आकर्षक और विदेशी सुपरफूड हमेशा बेहतर हों।  उनकी अपेक्षा कुछ घरेलू और देशी सब्जी एवं अन्य खाद्य पदार्थ भी आपको पोषण में बराबरी दे सकते हैं। जैसे चिया सीड की जगह सब्जा या फिर काले की जगह पालक आदि।
 
जैसे 100 ग्राम शकरकंद आपको 8.5 ग्राम बीटा कैरोटीन दे सकते हैं, जो अन्य से बेहतर है। इसी तरह ब्लूबेरी भले ही पॉलीफेनल व कैंसर रोधी तत्वों से भरपूर है, लेकिन इसके विकल्प के तौर पर आपको अन्य सस्ती चीजें भी उतने ही पोषण के साथ मिल सकती हैं जैसे - जामुन, फालसे, आमला आदि।  
 
4 इन्हें कमबाईन कर, यानि एक साथ दो या तीन सुपरफूड का इस्तेमाल कर आप कई गुना अधिक लाभ ले सकते हैं। उदाहरण के लिए सत्तू को नारियल पानी के साथ घोला जाए तो आप इसके फायदों को कई गुना बढ़ा सकते हैं।   
 
या फिर शकरकंद को ग्रि‍ल्ड सालमन मछली के साथ मिक्स कर एक बढ़िया कांबिनेशन बन सकता है। जिस रूप में आप सुपरफूड को डाइट में ले रहे हैं, उसके प्रति जागरूक रहना बेहद जरूरी है। 



और भी पढ़ें :