Fake Ginger : अदरक नहीं ज़हर खा रहे हैं आप, कैसे करें असली नकली की पहचान

कोरोना के प्रकोप से बचने के लिए अलग -अलग तरह के नुस्‍खें अपना रहे हैं। हर तरह से स्वास्थ्य का ख्याल रख रहे हैं। इम्‍यूनिटी बूस्‍ट करने पर जोर दिया जा रहा है। वहीं अदरक
की बात की जाएं तो वह जायके का काम भी करता है और औषधि के रूप में भी बहुत कारगर है। इसका नियमित सेवन करने से कई सारी बीमारियां दूर हो जाती है। लेकिन इन दिनों
बाजार में अदरक के नाम पर चूना लगाया जा रहा है। ऐसे में अब में फर्क करना जरूरी हो गया है। इसलिए नकली अदरक का सेवन करने से आपकी सेहत भी खराब हो सकती है। आइए जानते हैं कैसे करें असली और नकली अदरक की पहचान। साथ ही अदरक खरीदते समय कुछ बातों का ध्यान जरूर रखें।

असली अदरक और पहाड़ी जड़

इन दिनों मार्केट में दो तरह के अदरक बिक रहे हैं पहाड़ी जड़ और असली अदरक। असली अदरक को पहचानने के लिए उसकी खुशबू काफी है। अगर आप उसे नाखून से खरोचते हैं तो
उसकी खूशबू बहुत देर तक आपकी हाथों में रहेगी। साथ ही वह एक छिलने पर एकदम फ्रेश नजर आएगी। असली अदरक को चाय या सब्जी में डालने पर खुशबू और स्वाद आ जाता
है।

नकली अदरक एक प्रकार की पहाड़ी जड़ है।

साफ अदरक भूलकर भी नहीं लें - अगर आपको बाजार में बिना मिट्टी लगी हुई अदरक नजर आ रही है तो उसे भूलकर भी नहीं लें।
अदरक को एकदम साफ करने के लिए एसिड का
इस्तेमाल किया जा रहा है। इसका सेवन करने से आपको नुकसान भी पहुंच सकता है।

अदरक का सेवन करने से होते हैं स्‍वास्‍थ्‍य लाभ

- इसका नियमित सेवन करने से माइग्रेन का दर्द खत्‍म हो जाता है।

-रिसर्च में पाया गया कि इसका रोज सेवन करने से कोलोरेक्‍टल कैंसर के खतरे को काफी हद तक कम करता है।


-शुगर मरीजों को डॉ की सलाह से इसका सेवन करना चाहिए।
इससे किडनी को नुकसान की आशंका कम हो जाती है।


-कब्‍ज से परेशान है तो नींबू का रस, अजवाइन और थोड़ा सा नमक और अदरक मिलाकर खाएं इससे आराम मिलेगा।

- अदरक में एंटी-इंफलेमेटरी, एंटी बैक्‍टीरियल और एंटी ऑक्‍सीडेंट मौजूद होता है जिससे गैस, अपच और सर्दी में राहत मिलती है।




और भी पढ़ें :