ठंड में ऐसे रहें तरोताजा, खिले-खिले

WD|
सर्दी की अलसाई-सी होती है, जब बिस्तर छोड़ने का आपका बिल्कुल मन नहीं होता। आलस भरी सुबह से आप भी पूरा दिन अलसाए और सुस्त हो जाते हैं।इन दिनों में भूख बढ़ जाती है और शारीरिक श्रम कम होता है। लेकिन अगर सर्दियों में कुछ छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखा जाए, तो और के साथ आप रह सकते हैं बिल्कुल तरोताजा और खिले-खि‍ले - ‍   
सुबह की शुरुआत - 
जैसे ही आप बिस्तर से उठते हैं अपने शरीर को तानिए और ढीला छोड़िए। फिर से तानिए और ढीला छोड़िए। चार-पांच बार इस क्रिया को दोहराइए। ऐसा करने से शरीर में गर्मी के तापक्रम में वृद्धि होगी। यदि आपके पास समय है तो एक ही स्थान पर खड़े होकर कुछ देर जॉगिंग कीजिए। ऐसा करने से भी शरीर में चुस्ती-फुर्ती आएगी और आपके अगले काम फटाफट होंगे।



और भी पढ़ें :