गुरुवार, 29 फ़रवरी 2024
  • Webdunia Deals
  1. लाइफ स्‍टाइल
  2. सेहत
  3. हेल्थ टिप्स
  4. cabbage tapeworm
Written By

सावधान! पत्ता गोभी का कीड़ा दिमाग में घुसकर ले सकता है जान

cabbage tapeworm
Cabbage Side Effects for Brain : सर्दियों में हरी-पत्तेदार सब्जियां खाने की सलाह दी जाती है। सर्दियों के मौसम में कई तरह की सब्जियां आती हैं जो हमारी हेल्थ के लिए काफी फायदेमंद होती हैं। साथ ही ठंड के मौसम में कई लोग पत्ता गोभी भी बहुत शौक से खाते हैं। लेकिन कुछ सालों से पत्ता गोभी खाने के लिए सावधानियां भी रखनी पड़ रही हैं।

एक्सपर्ट के अनुसार पत्ता गोभी में कीड़े पाए जाते हैं (cabbage tapeworm) जो आपके शरीर से दिमाग तक घुस सकते हैं। साथ ही पत्ता गोभी को उबालने के बाद भी यह कीड़े नष्ट नहीं होते हैं। आपको बता दें कि दिमाग में इस कीड़े के घुसने से जो बीमारी होती है उसे मेडिकल टर्म में न्यूरोसिस्टीसर्कोसिस (Neurocysticercosis) कहा जाता है। 
 
पत्ता गोभी में पाए जाना वाला कीड़ा क्या है?
दरअसल कई रिसर्च में ये सामने आया है कि पत्ता गोभी में टेपवर्म (tapeworm) नामक कीड़ा पाया जाता है जो आपकी हेल्थ के लिए काफी हानिकारक है। यह कीड़ा शरीर में पहुंच सकता है जो कि काफी जानलेवा है। रिसर्च के अनुसार यह कीड़ा पहले पेट में जाता है फिर आंतों से होता हुआ रक्त संचार की मदद से दिमाग तक पहुंच जाता है। 
cabbage tapeworm
आपको जानकार हैरानी होगी कि यह कीड़ा मनुष्य के साथ अलग-अलग जानवरों को संक्रमित करता है। यह आंतों में रहते हैं और आपके द्वारा खाए जाने वाले पोषक तत्वों को खाते हैं। इस पोषक तत्वों की कमी के कारण आपको उलटी, कमजोरी या थकान जैसे लक्षण देखने को मिल सकते हैं। 
 
इसके साथ ही यह कीड़ा शरीर के अंदर रहकर ग्रो करता है और अंडे देना लगता है। इस कारण से संक्रमण बढ़ने की संभावना ज्यादा हो जाती है। साथ ही संक्रमित मनुष्य या जानवर जब मल करता है तो यह मल के ज़रिए दूसरे जानवर में फैल भी सकता है। 
 
क्या है न्यूरोसिस्टीसर्कोसिस बीमारी? 
पत्ता गोभी में टेपवर्म पाए जाते हैं जो शरीर से दिमाग तक पहुंच सकते हैं। अगर आप पत्ता गोभी का कच्चा सेवन करते हैं या पत्ता गोभी ठीक से पकी न हो तो आपके शरीर में ये चले जाते हैं। साथ ही कुछ एक्सपर्ट के अनुसार ये कीड़े पानी से धोने पर भी नष्ट नहीं होते हैं। इस कीड़े के दिमाग में घुसने से न्यूरोसिस्टीसर्कोसिस नामक बीमारी हो जाती है। इस बीमारी में मरीज के दिमाग पर प्रभाव पड़ने लगता है। साथ ही मरीज को दौरे भी पड़ने लगते हैं। सही समय पर इलाज न होने पर लकवा भी मार सकता है। 
 
न्यूरोसिस्टीसर्कोसिस बीमारी से कैसे बचें?
  • इस बीमारी से बचने से बचने के लिए घर में पत्तेदार सब्जियों को अच्छे से धोएं।
  • साथ ही सब्जी को अच्छे से पकाएं और कच्ची न रहने दें। 
  • किसी भी सब्जी का साग बनाने से पहले उसे अच्छे से उबाल लें। 
  • बच्चा अगर मिट्टी में खेल रहा है तो उसके अच्छे से हाथ धुलवाएं।

ये भी पढ़ें
Health Tips : बुढ़ापा आने से रुक जाएगा यदि खाते रहें ये 3 चीजें