राजस्थानी मोज‍ड़ी के क्या कहने...

रंग-बिरंगी मोजड़ी सबके मन भाई

मोजड़ी
गायत्री शर्मा|
ND
ND
पारंपरिक राजस्थानी मोजड़ी हर किसी को अपनी ओर आकर्षित करती है। कल तक राजाओं और नवाबों द्वारा पहनी जाने वाली मोजड़ी आजकल युवाओं द्वारा काफी पसंद की जा रही है। के इस दौर में मोजड़ी के दीवानों की संख्या में भी ‍दिन-ब-दिन बढ़ोतरी होती जा रही है।

भारतीय युवाओं के साथ-साथ मोजड़ी विदेशी पर्यटकों द्वारा भी पसंद की जाती है। राजस्थानी मोजड़ी का मुख्य आकर्षण इस पर की गई पारंपरिक कसीदाकारी होती है। स्थानीय कारीगर रंग-बिरंगी मोजडि़यों पर अपने हाथों से चमकीले धागों से सुंदर कशीदाकारी करते हैं। सुंदर कसीदाकारी व चमकीले मोती व सितारों की कारीगरी से सुसज्जित इन मोजडि़यों को देखकर भला कौन इन्हें खरीदना नहीं चाहेगा?

केवल महिलाओं में ही नहीं बल्कि मोजड़ी पुरुषों में भी काफी लोकप्रिय है। कुर्ते-पायजामे या शेरवानी पहने नौजवान के पैरों में यदि मोजड़ी हो तो उसकी सुंदरता में चार चाँद लग जाएँगे। आजकल कई बड़े मोजड़ी को साड़ी व कुर्ते-पायजामे के साथ प्रस्तुत कर रहे हैं
आजकल बाजार में 150 से लेकर 2000 रुपए तक की मोजडि़याँ मिलती हैं। इसमें हर रंग व डिजाइन की मोजडि़याँ शामिल हैं। आप अपनी ड्रेस के रंग से मेल खाती मोजडि़याँ खरीदकर स्वयं को फैशनेबल लुक दे सकते हैं। शादी व पार्टी में भी आप इसे पहनकर दूसरों से अलग दिख सकते हैं। लंबे लोगों के लिए मोजड़ी अपनी लंबाई को छुपाने व फैशनेबल दिखने का एक बेहतर विकल्प हो सकता है
किसके साथ पहनें मोजड़ी? :-
लड़के यदि मोजड़ी को कुर्ते-पायजामे व शेरवानी के साथ तथा लड़कियाँ इसे चूड़ीदार सलवार व चूड़ीदार जींस के साथ पहनें तो उनके पहनावे में परिपूर्णता आ जाएगी। लंबे लोगों पर तो मोजड़ी बहुत अधिक जँचती है।

कुछ ज़रूरी बातें :-
मोजड़ी खरीदते समय यह अवश्य देखें कि वे आपके पैरों में ज्यादा कसी न हों। इसके लिए थोड़ी ढीली मोजड़ी ही खरीदें। कुछ दिन मोजड़ी पहनने के बाद अक्सर पैरों में छाले हो जाते हैं। अत: मोजड़ी में चुभने या काटने वाली जगह पर कुछ दिनों तक मोम घिसें या फिर तेल लगाएँ।
सफेद कुर्ते-पायजामे पर ब्राउन या क्रीम कलर की मोजड़ी एक बार अवश्य ट्राय करें।
चूड़ीदार सलवार के साथ मोजड़ी पहनना न भूलें।
मोजड़ी खरीदते समय एक बार पहनकर कुछ कदम चलकर जरूर देखें।



और भी पढ़ें :