मांग में किसके नाम का सिंदूर भरती थीं लता मंगेशकर

पुनः संशोधित गुरुवार, 10 फ़रवरी 2022 (12:49 IST)
हमें फॉलो करें
भारत रत्न, स्वर साम्राज्ञी 6 फरवरी को इस दुनिया को अलविदा कह गईं। उनके निधन से संगीत के एक युग की समाप्ति हो गई। लता मंगेशकर के निधन के बाद से ही उनसे जुड़े कई किस्से वायरल हो रहे हैं।

लता मंगेशकर अपने पांच भाई-बहनों में सबसे बड़ी थीं। उनकी तीन बहनें मीना, उषा और आशाहैं। उनका एक भाई हृदयनाथ हैं। लता ने पिता की मृत्यु के बाद घर की बड़ी होने के नाते पूरे परिवार की जिम्मेदारियां संभाली थीं। लता मंगेशकर ने कभी शादी नहीं की लेकिन फिर भी वह अपनी मांग में सिंदूर भरती थीं।

लता मंगेशकर की मांग में लगा सिंदूर लोगों को आश्चर्यचकित करता था आखिर वह बिन शादी के भी क्यों मांग भरती हैं। लता मंगेशकर ने इस बारे में कभी खुलकर बात नहीं की। अपने जमाने की दिग्गज एक्ट्रेस तबस्सुम ने लता जी के सिंदूर लगाने के पीछे की वजह एक इंटरव्यू में बताई थीं।
तबस्सुम ने लता जी के मांग में सिंदूर भरने की वजह बताते हुए कहाथ था, एक बार मैंने लता जी से सवाल किया था कि दीदी आखिर आप तो कुंवारी हैं, फिर आपकी मांग में सिंदूर है, वो किसके नाम का है।

तबस्सुम ने बताया, इस पर लता मंगेशकर ने मुस्कुराकर कहा, बेटा संगीत मेरा सब कुछ है। संगीत नहीं, तो मैं भी नहीं हूं। लोग कहते हैं न कि, पति परमेश्वर और ये मांग में जो मैं सिंदूर भरती हूं, वही मेरा परमेश्वर है, मेरा सब कुछ संगीत है। इसलिए मैं संगीत के नाम का सिंदूर अपनी मांग में भरती हूं।



और भी पढ़ें :