गुरुवार, 25 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. लाइफ स्‍टाइल
  2. वीमेन कॉर्नर
  3. ब्यूटी केयर टिप्स
  4. Sandalwood Face Pack
Written By WD Feature Desk

चंदन से चुटकियों में दूर हो जाएगी टैनिंग, ऐसे बनाएं फेस पैक

स्किन की हर समस्या हो जाएगी दूर, ऐसे करें चंदन का इस्तेमाल

Sandalwood Face Pack
  • चंदन का पेस्ट त्वचा को ठंडक प्रदान करता है।
  • त्वचा को मॉइस्चराइज करने के लिए चंदन फायदेमंद है।
  • टैनिंग को आसानी से हटाता है चंदन का पेस्ट।
Sandalwood Face Pack : गर्मियों का मौसम आते ही हम सभी को अपने त्वचा की देखभाल पर विशेष ध्यान देना पड़ता है। सूरज की तेज किरणों का असर हमारी त्वचा पर पड़ता है जिससे स्किन डैमेज होती है। खासकर टैनिंग के लिए तैयार होने वाले व्यक्तियों के लिए त्वचा की देखभाल और भी महत्वपूर्ण हो जाती है। इस समस्या का समाधान ढूंढ़ते हुए, एक प्राकृतिक और प्रभावी उपाय है चंदन का लेप। ALSO READ: चेहरे की झुर्रियों को कम कर देगा ये 1 होममेड क्रीम, इस तरह करें तैयार
 
यह एक प्राकृतिक उपचार है जिसे हजारों वर्षों से त्वचा की देखभाल के लिए प्रयोग किया जाता रहा है। चंदन लगाने से त्वचा को शीतलता प्रदान होती है, जिससे त्वचा को ठंडा महसूस होता है और गर्मी से राहत मिलती है। आइए जानते हैं कि कैसे आप भी Chandan Face Pack का इस्तेमाल कर सकते हैं...
 
चंदन का लेप लगाने का तरीका
  • पहले एक छोटा सा टुकड़ा चंदन का पीस लें।
  • अब इसमें थोड़ा सा दूध या दही मिलाएं ताकि यह एक स्मूथ पेस्ट बन जाए।
  • अब इस पेस्ट को अपने चेहरे और गर्दन पर लगाएं।
  • इसे बनाए रखने के लिए 15-20 मिनट तक ठंडे पानी से धो दें।
  • इसके बाद, अपने चेहरे को पोंछ लें और नमकीन पानी से धो लें।
  • आप बाजार में मौजूद चंदन पाउडर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

Sandalwood Face Pack
चंदन के लेप के फायदे | Sandalwood Face Pack Benefits
1. त्वचा को शीतलता प्रदान करे: चंदन के लेप में मौजूद ठंडक त्वचा को शीतलता प्रदान करती है और उसे गर्मियों की जलन और चुभन से राहत मिलती है।
 
2. त्वचा को मॉइस्चराइज करे: चंदन का लेप त्वचा को मॉइस्चराइज करता है और उसे सॉफ्ट, सुंदर और चमकदार बनाए रखता है।
 
3. एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण: चंदन में एंटी-इंफ्लेमेट्री प्रॉपर्टीज होती हैं जो त्वचा के इंफ्लेमेशन को कम करती हैं और उसे स्वस्थ बनाए रखती हैं।
 
4. टैनिंग से बचाव: चंदन का लेप त्वचा को सूर्य की किरणों के हानिकारक प्रभाव से बचाता है और टैनिंग को कम करता है।