केले के 12 उपयोग और 12 फायदे, जानिए

banana tree benefits
केले का पेड़ काफी पवित्र माना जाता है और कई धार्मिक कार्यों में इसका प्रयोग किया जाता है। केले का फल, फूल, पत्ते, तना, जड़ और डंडल इन छह चीजों का उपयोग होता है और इनके कई फायदे भी हैं। आओ जानते हैं केले और उसके फल के 10 उपयोग और 15 फायदे।

12 उपयोग
1. उत्तर भारत में खाकरे या पलाश के पत्ते तो दक्षिण भारत में केले के पत्ते पर प्राचीनकाल से ही भोजन परोसकर खाया जाता रहा है और प्रसाद बांटा जाता है।

2. पहले के लोग लकड़ी या कुश से बनी झोपड़ी की छत को केले के पत्ते से ही ढकते थे। बारिश की रोकथाम के लिए यह बहुत काम के होते हैं।

3. केले के फल को खाने से भूख के साथ ही प्यास भी मिट जाती है, क्योंकि उसमें 64 प्रतिशत जल रहता है।
4. केला एक पेड़ नहीं होता क्योंकि इसमें लकड़ी नहीं होती। मतलब लिपटे हुए पत्ते ही इसका तना है। इसकी सूखी सामग्री से हैंडीक्रॉफ्ट बनाए जाते हैं।

5. केले के सूखे हुए रेशों से चटाई बनाई जाती है, जिसमें सुपारी की पत्तियों का उपयोग भी किया जाता है।

6. इसके रेशों का उपयोग कटोरे, बैग और कपड़े बनाने के लिए भी किया जाता है।

7. पत्तियों को सुखा कर उनसे प्लेट, कप और चम्मच जैसे सामान भी बनाए जाते हैं।

8. केले के पौधे से निकलने वाले रेशे का इस्तेमाल पारंपरिक रूप से फूलों की झालर, कागज, धागे और चटाई के निर्माण में किया जाता है।

9. केले के छिलके को रंगाई में उपयोग करते हैं। इसके सैप में टैनिन होता है। इस गुण के कारण, इसका उपयोग स्याही बनने के लिए किया जाता है।

10. केले के फल, फूल, डंठल और कच्चे केले की सब्जी बनाकर खाते हैं।

11. केले तंतुओं, सूखे पत्तों और डंठल का उपयोग करके बाड़ बांधने का काम भी किया जाता है।
12. उपवास में केले की चिप्स बनाकर खाई जाती है।

12 फायदे :
1. केले के पत्तों पर भोजन करने से आयु और आरोग्य में वृद्धि होती है। इसका उपयोग करते रहने से पेट संबंधी सभी रोग समाप्त हो जाते हैं।

2. केले के पत्तों में प्रसाद बांटा जाता है और इसी पर भोजन भी खाया जाता है। ऐसा करने से इसके विशेष पोषक तत्व हमारे शरीर में जाकर हमें शांति प्रदान करते हैं।
3. केले में मुख्यतः विटामिन-ए, विटामिन-सी, थायमिन, राइबो-फ्लेविन, नियासिन तथा अन्य खनिज तत्व होते हैं। इसमें जल का अंश 64.3 प्रतिशत, प्रोटीन 1.3 प्रतिशत, कार्बोहाईड्रेट 24.7 प्रतिशत तथा चिकनाई 8.3 प्रतिशत है। केले की जड़ में एंटी-इंफ्लामेटरी और एंटी-पायरेरिक गुण गुण होते हैं।

4. केला हर मौसम में सरलता से उपलब्ध होने वाला अत्यंत पौष्टिक एवं स्वादिष्ट फल है जो हमारे वजन कम करने में सहायक है।
5. केला रोचक, मधुर, शक्तिशाली, वीर्य व मांस बढ़ाने वाला, नेत्रदोष रोग में हितकारी है।

6. पके केले के नियमित सेवन से शरीर पुष्ट होता है। यह हमारे दिल को स्वस्थ रखता है।

7. यह कफ, रक्तपित, वात और प्रदर के उपद्रवों को नष्ट करता है।

8. केले की जड़ को अस्थमा रोगियों, अल्सर के लिए, गैस्ट्रिक एसिड, त्‍वचा संबंधी समस्‍याओं, हाई ब्लड प्रेशर में फायदेमंद माना जाता है।
9. केले की जड़ को आंखों के लिए भी फायदेमंद माना जाता है।

10. केले के छिलके को चेहरे पर लगाने से त्वचा में निखार आता है। यह चेहरे के दाग-धब्बे मिटाता है।

11. केले के छिलके जलन को भी दूर करते हैं। जले हुए भाग पर लगाने से जलन दूर होती है।

12. केले के फूल में फाइबर, प्रोटीन, पोटैशियम, कैल्शियम, कॉपर, फॉस्फोरस, आयरन, मैग्नीशियम और विटामिन ई होता है। जो कि आपकी सेहत के लिए किसी अमृत से कम नहीं है।



और भी पढ़ें :