जून में कार कंपनियों ने जमकर की बिक्री, सेल के मामले में इस कंपनी ने मारी बाजी

पुनः संशोधित गुरुवार, 1 जुलाई 2021 (19:11 IST)
जून में कोरोना वायरस की गति पर ब्रेक लगा और ऑटोमोबाइल सेक्टर की रफ्तार बढ़ी। कई कंपनियों की बिक्री में जबर्दस्त उछाल आया। आइए जानते हैं कौनसी कंपनी की कितनी हुई बिक्री।
मारुति की तीन गुना बिक्री : मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) ने कहा कि जून 2021 में उसकी बिक्री तीन गुना से अधिक वृदधि के साथ 1,47,368 इकाई रही, जो मई में 46,555 इकाई थी। एमएसआई ने कहा कि कोविड महामारी से संबंधित प्रतिबंधों में ढील के कारण उसे डीलरशिप तक अधिक इकाइयां भेजने में मदद मिली। देश की सबसे बड़ी कार विनिर्माता कंपनी ने कहा कि पिछले महीने घरेलू मोर्चे पर उसने डीलरों को 1,30,348 गाड़ियां भेजीं, जबकि मई में यह आंकड़ा 35,293 इकाई था। कंपनी ने बताया कि ऑल्टो और एस-प्रेसो सहित छोटी कारों की बिक्री जून में बढ़कर 17,439 इकाई हो गई, जो इस साल मई में 4,760 इकाई थी। इसी तरह कॉम्पैक्ट खंड सहित अन्य सभी खंडों में बिक्री में इजाफा हुआ। समीक्षाधीन अवधि में निर्यात 17,020 इकाई रहा, जो इस साल मई में 11,262 इकाई था।
टाटा मोटर्स ने 43,704 गाड़ियां बेचीं : टाटा मोटर्स ने गुरुवार को कहा कि जून 2021 में उसकी घरेलू बिक्री 78 प्रतिशत बढ़कर 43,704 इकाई हो गई, जो इस साल मई में 24,552 इकाई थी। कंपनी ने पिछले साल जून में 19,387 गाड़ियां बेची थीं। टाटा मोटर्स ने कहा कि घरेलू बाजार में यात्री वाहनों की बिक्री जून में 24,110 इकाई रही, जबकि मई में यह 15,181 इकाई थी। इसी तरह घरेलू बाजार में वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री पिछले महीने 19,594 इकाई रही, जो मई में 9,371 इकाई थी। एक अलग विज्ञप्ति में हिंदुजा समूह की प्रमुख कंपनी अशोक लेलैंड ने कहा कि जून में उसकी कुल बिक्री दोगुनी बढ़कर 6,448 इकाई हो गई, जो इस साल मई में 3,199 इकाई थी। वोल्वो समूह और आयशर मोटर्स के संयुक्त उद्यम वीई कमर्शियल व्हीकल ने बताया कि जून में उसकी कुल बिक्री 2,438 इकाई रही। कंपनी ने जून 2020 में 1,358 इकाइयां बेची थीं।
हुंडई की बिक्री में 77 प्रतिशत का उछाल : हुंडई मोटर इंडिया लिमिटेड (एचएमआईएल) ने गुरुवार को कहा कि जून 2021 में उसकी थोक बिक्री 54,474 इकाई रही, जो मई की 30,703 इकाइयों के मुकाबले 77 प्रतिशत अधिक है। एचएमआईएल ने बताया कि इस दौरान उसने घरेलू डीलरशिप को 40,496 गाड़ियां भेजीं, जबकि मई 2021 में यह आंकड़ा 25,001 इकाई था। कंपनी ने बताया कि जून में निर्यात बढ़कर 13,978 इकाई हो गया, जो मई में 5,702 इकाई था।

टोयोटा की 13 गुना वृद्धि : टोयोटा किर्लोस्कर मोटर (टीकेएम) ने गुरुवार को कहा कि विभिन्न राज्यों में कोरोना वायरस महामारी के चलते लागू प्रतिबंध हटाने के साथ जून में उसने डीलरों को 8,801 गाड़ियां भेजीं, जो इस साल मई के मुकाबले 13 गुना वृद्धि को दर्शाता है। कंपनी ने मई में 707 गाड़ियां भेजी थीं, जबकि पिछले साल जून में यह आंकड़ा 3,866 इकाइयों का था। टीकेएम के वरिष्ठ उपाध्यक्ष नवीन सोनी ने एक बयान में कहा कि कर्नाटक में धीरे-धीरे अनलॉक होने के बाद पिछले महीने 50 प्रतिशत कार्यबल के साथ उत्पादन फिर से शुरू किया गया और ग्राहकों के लंबित ऑर्डर को जल्द से जल्द पूरा करने पर जोर दिया गया। उन्होंने कहा कि हमें आने वाले महीनों में खुदरा बिक्री के बेहतर होने की उम्मीद है, बशर्ते कि महामारी हमारे सामने नई चुनौती न पेश करे।
किया को अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद : कार निर्माता कंपनी किया इंडिया ने बृहस्पतिवार को बताया कि जून 2021 में उसकी कारों की थोक बिक्री में 36 प्रतिशत की वृद्धि हुई। इस दौरान कंपनी ने 15,015 कारें बेचीं जबकि मई में यह संख्या 11,050 थी। कंपनी ने पिछले महीने अपने सेल्टोस, सोनेट और कार्निवल कारों की क्रमश: 8,549, 5,963 और 503 इकाइयां बेचीं। किया इंडिया के मुख्य बिक्री एवं व्यापार रणनीति अधिकारी टाए-जिन पार्क ने एक बयान में कहा, "पिछले कुछ हफ्तों में ग्राहकों की भावना में सुधार के संकेत दिखे हैं और हम भविष्य को लेकर आशान्वित बने हुए हैं। हालांकि उन्होंने कहा, कंपनी मौजूदा स्थिति को ध्यान में रखते हुए साप्ताहिक आधार पर कामकाज की समीक्षा कर रही है, अपने वाहनों की मांग पूरा करने के उपायों का मूल्यांकन कर रही है। कार कंपनी ने कहा कि कंपनी को केलेंडर वर्ष की पहली छमाही में अच्छे प्रदर्शन के बाद साल की दूसरी छमाही में भी अच्छा प्रदर्शन करने की उम्मीद है। इस साल जनवरी से जून के बीच दक्षिण कोरिया की कार कंपनी ने भारतीय बाजार में करीब 1,00,000 कारें बेची हैं।
कितनी रही होंडा की बिक्री : होंडा कार्स इंडिया लिमिटेड (एचसीआईएल) ने बृहस्पतिवार को कहा कि इस साल जून महीने में उसके कारों की थोक बिक्री मई की तुलना में बढ़ गयी और उसने कुल 4,767 कारें बेचीं। कंपनी ने मई में 2,032 कारें बेची थीं।

कंपनी ने पिछले महीने 1,241 कारों का निर्यात किया जबकि मई में यह संख्या 385 थी। कंपनी ने पिछले साल जून में कोविड-19 लॉकडाउन से जुड़े प्रतिबंधों के बीच घरेलू बाजार में 1,398 कारों की बिक्री की थी जबकि निर्यात की गयी कारों की संख्या 142 थी।
एचसीआईएल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और निदेशक (विपणन एवं बिक्री) राजेश गोयल ने एक बयान में कहा, "जून में डीलरशिप के लिए रवाना की गयी कारों की संख्या हमारे उत्पादन के अनुरूप थी जिसे हमें कोविड से पहले के स्तर से 50 प्रतिशत कम पर बनाए रखा है। कई राज्यों में लॉकडाउन हटने और ज्यादातर बाजारों में डीलर आउटलेट दोबारा खुलने के साथ हमें इस महीने से कारों की बिक्री के और जोर पकड़ने की उम्मीद है और हम इसी के अनुसार अपना दैनिक उत्पादन बढ़ाएंगे। उन्होंने कहा कि कार कंपनी को उम्मीद है कि यह सकारात्मक गति बनी रहेगी और इस तरह उद्योग को वापसी करने में मदद करेगी। हालांकि कोविड से जुड़ी बाधाओं, और कच्ची सामग्रियों की ऊंची कीमतों की वजह से स्वामित्व की बढ़ती लागत से जुड़ी चुनौतियां बनी हुई हैं।
निसान की 3,503 कारें बिकीं : निसान मोटर इंडिया ने बृहस्पतिवार को कहा कि जून, 2021 में उसकी थोक बिक्री में मई से तीन गुना वृद्धि हुई और उसने 3,503 कारें बेचीं। कंपनी ने इस साल मई में 1,235 कारों की थोक बिक्री की थी। निसान मोटर इंडिया के प्रबंध निदेशक राकेश श्रीवास्तव ने एक बयान में कहा, "पिछले महीने लॉकडाउन एवं प्रतिबंधों की कोविड-19 से जुड़ी चुनौतियां की वजह से उत्पादन और चैनल के कामकाज पर असर पड़ा। कंपनी ने सुरक्षा को प्राथमिकता दी और अपने समझदार ग्राहकों की मांग पूरी करने की दिशा में वेंडरों और चैनल भागीदारों के साथ सहयोग किया। उन्होंने कहा कि अच्छे मानसून की उम्मीद के साथ कंपनी नये निसान मैग्नाइट की मांग पूरी करने के लिए विनिर्माण संयंत्र में तीसरी पाली फिर से शुरू करने की तैयारी कर रही है। इस कदम का उद्देश्य ग्राहकों के इंतजार की अवधि को कम करना है।



और भी पढ़ें :