शिवानी हत्याकांडः आरके शर्मा को बरी करने के खिलाफ दिल्ली पुलिस की सुप्रीम कोर्ट में अपील

नई दिल्ली| Naidunia| पुनः संशोधित गुरुवार, 12 जनवरी 2012 (00:52 IST)
बहुचर्चित शिवानी में भारतीय पुलिस सेवा से निलंबित वरिष्ठ अधिकारी रवि कांत शर्मा को बरी करने के हाईकोर्ट के निर्णय को दिल्ली पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है।


राजधानी के एक प्रमुख अंग्रेजी दैनिक समाचार पत्र में कार्यरत शिवानी भटनागर की 23 जनवरी, 1999 को पूर्वी दिल्ली में स्थित उसके फ्लैट में ही हत्या कर दी गई थी।


इस सनसनीखेज हत्याकांड मे सत्र अदालत ने 24 मार्च, 2008 को रवि कांत शर्मा सहित चार अभियुक्तों को उम्र कैद की सजा सुनाई थी। लेकिन हाईकोर्ट ने गत वर्ष 12 अक्तूबर को फैसले में सिर्फ एक अभियुक्त प्रदीप शर्मा की सजा बरकरार रखते हुए शेष तीनों अभियुक्तों रवि कांत शर्मा, श्रीभगवान और सत्य प्रकाश को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया था।


हाईकोर्ट ने अपने हाईकोर्ट का मत था कि इस्तगासा इस हत्याकांड में रवि कांत शर्मा की भूमिका सिद्घ करने में विफल रहा है। न्यायालय ने कहा था कि शिवानी भटनागर की हत्या का मकसद स्पष्ट नहीं है। ऐसी स्थिति में यह भी सवाल उठता है कि क्या प्रदीप शर्मा ने अकेले ही इस वारदात को अंजाम दिया या फिर उसने पुलिस अधिकारी रवि कांत शर्मा और अन्य अभियुक्तों के इशारे पर शिवानी की हत्या की।

और भी पढ़ें : शिवानी हत्याकांड