test header

भारतीय संस्कृति को बचाना आज की पहली आवश्यकता

शाजापुर | Naidunia| पुनः संशोधित रविवार, 27 नवंबर 2011 (02:51 IST)
एवं का दो दिनी जिला शनिवार से यहाँ शुरू हुआ। पहले दिन संस्कृति, गौरक्षा, हिंदुत्व व सत्संग विषय पर वक्ताओं ने प्रकाश डाला।

इसके पूर्व राजसजन परिसर में अभ्यास वर्ग का शुभारंभ संतश्री कल्याणदास महाराज, क्षेत्रीय संयोजिका सरोज सोनी, भेरूलाल टाँक, जिला मंत्री गेंदालाल बमनका, प्रांत सधर्म प्रसार प्रमुख शरद जोशी, संगठन मंत्री रमेश चौधरी, मनोज भट्ट के आतिथ्य में हुआ। जिले से पधारे कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए श्रीमती सोनी ने कहा कि भारतीय संस्कृति को बचाना हमारा प्रथम कर्तव्य है। यह दुःखद है कि संस्कृति को बिगाड़ने का काम तेज गति से हो रहा है। अतः इसे बचाने के लिए कार्यकर्ताओं को ही आगे आना होगा। गौरक्षा के लिए भी हमें सजग होना जरूरी है। हिंदू धर्म में गाय को माँ का दर्जा दिया गया है किंतु आज हमारी माँ कत्लखाने की भेंट चढ़ रही है। माँ की रक्षा के लिए हर कार्यकर्ता को संकल्पित होना पड़ेगा, तभी हम हिंदू होने का फर्ज अदा कर सकते हैं।

आरंभ में अतिथियों का स्वागत विहिप बजरंग दल जिला संयोजक नंदराम वाक्तलिया ने किया। वर्ग में जिला अध्यक्ष नारायणसिंह डोडिया, जगदीश धाकड़, अरुण शिंदे, हीरालाल ढोढरिया, राकेश कपासिया आदि मौजूद थे। आयोजन में महिदपुर, नागदा, खाचरौद, बड़नगर, उन्हेल के कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया।


समापन आज
अभ्यास वर्ग के दूसरे दिन रविवार को स्मरण व शारीरिक विषय पर व्याख्यानमाला होगी। साथ ही समाज के समक्ष चुनौतियों पर प्रकाश डाला जाएगा। शाम को जिला अभ्यास वर्ग का समापन होगा।



और भी पढ़ें :