छम-छम नाचे देखो वीर हनुमाना

नीमच | Naidunia| पुनः संशोधित शनिवार, 7 अप्रैल 2012 (00:44 IST)
नगर में हनुमान जयंती के अवसर पर छम-छम नाचे देखो वीर हनुमाना..., सीताराम बसे हैं मेरे मन में..., , जग में साँचा तेरा नाम..., हे दुःख भंजन, मारुतिनंदन.., जय हनुमान ज्ञान गुण सागर... जैसे भजन अंचल के हनुमान मंदिरों में दिनभर गुंजायमान रहे।


संपूर्ण अंचल में हनुमान जयंती धूमधाम से मनाई गई। इस अवसर पर पवनपुत्र की आराधना में भक्तों का सैलाब उमड़ पड़ा। प्रातः से ही विभिन्न आयोजनों का सिलसिला प्रारंभ हुआ, जो देर रात तक चलता रहा। इस दौरान सुन्दरकांड, यज्ञ हवन, अनुष्ठान और भंडारे के आयोजन किए गए। इस अवसर पर श्रद्घालुओं ने यज्ञ में आहुतियाँ दी। शनिदेव के कोप से बचने के लिए भी श्रद्घालुओं ने हनुमान मंदिरों में अनुष्ठान करवाए।

हजारों ने लिया भंडारों में भाग

शहर सहित अंचल के विभिन्न हनुमान मंदिरों में भंडारे के आयोजित किए गए। इनमें हजारों श्रद्घालुओं ने भाग लेकर प्रसादी ग्रहण की। स्थानीय खेड़ापति बालाजी मंदिर बघाना, श्री बालाजी मंदिर बघाना, विराट विराय हनुमान मंदिर ग्वालटोली, जमुनिया बालाजी मंदिर, कुई वाले बालाजी नीमचसिटी, संकटमोचन हनुमान मंदिर हर्कियाखाल, मंशापूर्ण दरबार जयसिंहपुरा रोड़, मंशापूर्ण हनुमान मंदिर शिक्षक कॉलोनी सहित विभिन्न हनुमान मंदिरों में भंडारे आयोजित किए गए।

प्रभातफेरी और

चल समारोह निकले

हनुमान जयंती के अवसर पर स्थानीय शिक्षक कॉलोनी स्थित मंशापूर्ण हनुमान मंदिर से प्रभातफेरी निकाली गई। अन्य बालाजी मंदिरों से भी प्रभातफेरी निकली। नीमचसिटी के विद्यापति बालाजी मंदिर से शाम को चल समारोह निकला, जो सिटी के प्रमुख मार्गों से होता हुआ प्रताप चौक पर संपन्न हुआ। चल समारोह में बड़ी संख्या में श्रद्घालुओं ने भाग लिया। इसी तरह नीमच सिटी के कुई वाले बालाजी मंदिर से भी दोपहर में चल समारोह निकाला गया।

चढ़ाया चोला किया श्रृंगार

हनुमान मंदिरों में भगवान को चोला चढ़ाया गया। साथ ही बजरंगबली का आकर्षक श्रृंगार भी किया गया। इस अवसर पर प्रातः और शाम को महाआरती के आयोजन किए गए। साथ ही बालाजी को छप्पनभोग भी लगाया गया।


वाहन रैली निकली
मनासा में हनुमान जयंती के अवसर पर पुलिस थाना स्थित हनुमान मंदिर से प्रभात फेरी निकाली गई तथा दोपहर में वाहन रैली निकली। इसमें बड़ी संख्या में हनुमान भक्तों ने भाग लेकर पवनपुत्र के जयकारे लगाए। स्थानीय कृषि उपज मंडी स्थित मनभावन हनुमान मंदिर में दिनभर धार्मिक कार्यक्रम आयोजित हुए। इसमें अभिषेक, सुंदरकांड व छप्पनभोग का आयोजन हुआ। शाम को भजन संध्या का आयोजन किया गया। इसमें बड़ी संख्या में श्रद्घालुओं ने भाग लिया। इसके साथ ही नगर के लक्ष्मीबाई मार्ग स्थित संकट मोचन हनुमान मंदिर, हल्हेड़ दरवाजा स्थित मंशापूर्ण बालाजी, तालाब वाले बालाजी, अहिल्यापुरा स्थित परमहंस बालाजी सहित सभी हनुमान मंदिरों में हनुमान जयंती धूमधाम से मनाई गई।

देर रात तक जमी भजन संध्या

बघाना के बालाजी मंदिर में 3 अप्रैल से हनुमान जयंती प्रारंभ हो चुका था। 5 अप्रैल को आर्ट ऑफ लिविंग के श्रीश्री रविशंकर के शिष्य गौतम डबीर की भजन संध्या आयोजित हुई। इसमें श्री डबीर ने हनुमानजी सहित विभिन्न देवी-देवताओं के कर्णप्रिय भजनों की प्रस्तुति दी गई। इसे सभी ने सराहा। रात्रि 11 बजे सुंदरकांड का आयोजन किया गया। इसमें भजन गायक दाऊ पेंटर ने एक से बढ़कर एक भजनों की प्रस्तुति देकर खूब दाद बटोरी।

यहाँ सुबह से ही भजन-कीर्तन प्रारंभ हो गए थे। दोपहर में भंडारा शुरू हुआ, जो देर शाम तक चलता रहा। स्टेशन रोड स्थित चौकन्नाबालाजी, हिंगोरिया बालाजी, पंच मंदिर पिपलीचौक, नीमचसिटी स्थित बालाजी, रावणरुंडी बालाजी मंदिर, इंदिरानगर स्थित बालाजी मंदिर और मालखेड़ा रोड स्थित करंट बालाजी मंदिर में भी विभिन्न आयोजन किए गए।



और भी पढ़ें :