धनुष ज्ञान और बाण विवेक का प्रतीक

बड़वानी | Naidunia| पुनः संशोधित बुधवार, 25 जनवरी 2012 (00:57 IST)
समीपस्थ नर्मदा तट स्थित में नर्मदा जन्मोत्सव के तहत चल रही श्रीराम कथा में बड़ी संख्या में श्रद्घालु शामिल हो रहे हैं। तीसरे दिन गुरुदेव शैलेंद्र शास्त्री (शिव कोठी धाम ओंकारेश्वर) ने प्रवचन में कहा कि भगवान राम हमेशा अपने साथ धनुष-बाण रखते थे। धनुष ज्ञान का और बाण विवेक का प्रतीक माना गया है। आयोजन समिति के काशीराम काका, माँगीलाल पाटीदार, राजेंद्र पांडे, महेंद्रसिंह, अनिल जोशी ने बताया कि 25 जनवरी को श्रीराम जन्मोत्सव मनाया जाएगा। 26 को श्रीराम विवाह एवं 30 जनवरी को श्रीराम राज्याभिषेक का भी आयोजन होगा। -निप्र



और भी पढ़ें :