ध्यानमग्न झील

मिशिगन झील पर एक कविता

- डॉ. हरि जोशी
सुध-बुध खो चुकी विशाल मिशिगन झील।



और भी पढ़ें :