बच्चों की परवरिश

ND|
माता-पिता को बच्चों की में बहुत धैर्य की जरूरत होती है, इसलिए अगर आपका बच्चा शरारतें करता है तो आप परेशान न हों, बल्कि इन सुझावों पर अमल करने की कोशिश करें।

- जिन बच्चों में एनर्जी लेवल ज्यादा होता है वे शरारतें करके अपनी ऊर्जा को खर्च करते हैं। अगर आपका बच्चा बहुत ज्यादा उछल-कूद करता है तो आप उसे क्रिकेट, फुटबॉल, बैडमिंटन जैसी स्पोर्ट्स एक्टिविटीज के लिए प्रेरित करें।

- अगर आपका बच्चा शरारती होने के साथ गुस्सैल भी है और दूसरे बच्चों के साथ मारपीट करता है तो आप उसे जूडो-कराटे सिखाएँ। इससे उसका नकारात्मक व्यवहार सकारात्मक रूप ले लेगा।
- हमेशा आपकी नजर उस पर होनी चाहिए। जब भी वह कोई शरारत करता है तो उसे उसकी गलती का एहसास जरूर कराएँ और उसे दोबारा ऐसा न करने की चेतावनी दें।

- बच्चे से दोस्ताना संबंध रखते हुए उसे प्यार से समझाने की कोशिश करेंगी तो उसकी आदतों में जरूर सुधार आएगा।



और भी पढ़ें :