आपकी चाहत न हो जाए नाराज

NDND
भागदौड़ भरी जिन्दगी में लोगों के पास खुद के लिए भी वक्त नहीं रह गया है। ऐसे में किसी ऐसे इन्सान की तलाश करना जो आपके समय का पूरा ध्यान रखे तो यह काफी मुश्किल है। इन मुश्किल क्षणों में जरूरत होती है एक सच्चे साथी की, जो आपकी भावनाओं का पूरा-पूरा ख्याल रखे।

ऐसे रिश्ते की जरूरत है जो कुछ दिनों के लिए नहीं जीवनभर आपका साथ निभाए। अगर आपको किस्मत से ऐसा साथी मिल जाए तो उस अनमोल तोहफे को अपने दिल के करीब रख सकते हैं। वरना आप भी रोहित की तरह जीवनभर पछताते रहेंगे। दो साल पहले की बात है रोहित की जिन्दगी में आयशा नाम की लड़की आई। दोनों ने साथ निभाने की ढेर सारी कसमें खाईं। लेकिन वो सारी कसमें धरी की धरी रह गईं और कारण बना खुद रोहित। आप भी कहीं दूसरे रोहित न बनें इसलिए आइए कुछ ऐसी सामान्य लेकिन गंभीर बातों पर आपका ध्यान दिलाएँ -

आलोचक न बनें
कहा जाता है कि सही आलोचना हमेशा लोगों को पसंद आती है, लेकिन यह आपकी गर्लफ्रेंड पर भी लागू हो यह जरूरी तो नहीं। सामान्यतः देखा जाता है, कुछ सामान्य सुझाव भी आपके साथी को नाराज कर सकते हैं क्योंकि एक प्रेमी की बजाय माँ की तरह दिए सुझाव उसे कभी पसंद नहीं आएँगे। उसके पहनने, खाने, उठने जैसी निजी बातों में आपका दखल उसे नाराज कर सकता है।

उसे भी महत्व दें
यह सच है कि आपका करियर और आपकी नौकरी आपके लिए महत्वपूर्ण है और आपकी गर्लफ्रेंड के लिए भी वह उतना ही महत्व रखता है। वह आपकी तरक्की से भी खुश होगी। लेकिन वहीं दूसरी ओर अगर आप ऑफिस के काम को ज्यादा महत्व देने लगेंगे या शाम में मिलने का वादा कर अपने काम की वजह से टाल देंगे, तो जल्द ही आपकी गर्लफ्रेंड आपकी प्राथमिकताओं को गिनाना शुरू कर देगी।

NDND
यह सच है कि लड़कियों को करियर के प्रति सचेत लड़के पसंद आते हैं लेकिन आप उनके लिए भी वक्त न निकाल पाएँ इसे वह कभी सहन नहीं कर सकती। आप ही सोचिए भला उस नौकरी का क्या मतलब जिसमें करियर और ढेर सारा पैसा तो हो लेकिन उसे कोई बाँटने वाला न हो!

भावनाओं को चोट न पहुँचाएँ
अपनी गर्लफ्रेंड की भावनाओं को ठेस न पहुँचाएँ। आपसी समझ से बने रिश्तों में भी किसी प्रकार का धोखा उन्हें सहन नहीं होता। शारीरिक संबंधों से भी ज्यादा चोट उसे भावनाओं के आहत होने से होती है। खासतौर से जब उन्हें पता चल जाए कि आपके संबंध किसी और से भी हैं। या जब आप उसके चरित्र पर शक करते हैं तो ये बातें उनकी भावनाओं को चोट पहुँचाती हैं।

पसंद-नापसंद का ख्याल भी रखें
स्टाइलिश होना जरूरी नहीं, बल्कि जरूरी यह है कि आप किस स्टाइल में सहज महसूस करते हैं। लेकिन यह तय करने से पहले जान लेना भी जरूरी है कि वह आपको किस रूप में पसंद करती हैं। वैसे यह जानना बहुत ही आसान है। अगर आपकी गर्लफ्रेंड आपके स्टाइलिश कपड़ों को देखकर आपकी तारीफ करे तो समझ जाएँ कि वो क्या पसंद करती है। और अगर उसे यह चीजें पसंद नहीं तो कभी भी उसके साथ बाहर जाने पर ऐसा कुछ भी न पहनें जो उसे पसंद न हो।

जब हो वह आपके करीब
ऐसे मौके पर लड़कियाँ काफी असहज महसूस करती हैं। उनके हाव-भाव भी काफी बदल जाते हैं, इसलिए ऐसे मौके पर आप उससे ऐसे बात करें जैसे एक छोटी बहन से करते हैं। उसे एहसास दिलाएँ कि आप उसके साथ काफी सहज महसूस कर रहे हैं।

आपके व्यवहार में अपनत्व की भावना होनी चाहिए। अगर वो इस तरह के व्यवहार को पसंद नहीं करती तो कभी भी दवाब न डालें। हो सकता वह आपके दबाव को मजबूरी समझे।

हस्तक्षेप न करें
  ऐसे में वह आपसे दूर होने की कोशिश करने लगेगी। इसलिए उससे ऐसे व्यवहार करें कि वो सबसे खास है। उनकी आँखों में झाँककर देखें। जब भी आपको वक्त मिले उनसे मिलकर बातें करें।      
बहुत बार ऐसा देखा जाता है पुरुष हमेशा अपनी गर्लफ्रेंड पर अनावश्यक शासन करने लगते हैं। उनके दोस्तों से भी जलन की भावना रखने लगते हैं। खासकर जब वह पुरुष हो। अगर लड़कियों से भी उनकी दोस्ती है तो आपको यह भी पसंद नहीं आता कि उनके साथ वह ज्यादा समय बिताए। उनकी आजादी को बाँधने का प्रयास न करें। उन्हें कहाँ जाना, कितनी देर के लिए जाना है जैसी छोटी-छोटी चीजों में हस्तक्षेप न करें तो बेहतर होगा।

लड़कियाँ भी आजादी से जीना पसंद करती हैं और ऐसा हो सकता है कि आपके आने से पहले उसकी जिन्दगी ज्यादा स्वतंत्र हो। और आपकी बेवजह की रोक-टोक उसकी जिन्दगी को गुलाम बना रही हो। इसलिए जब तक जरूरी न हो रोक-टोक न करें।

कम न हो आपका
पुरुष मानसिकता होती है प्यार का इजहार किया, साथ-साथ घूमे और कुछ दिनों के बाद नजरें इधर-उधर जाने लगती हैं। अगर आप उनकी तारीफ करना छोड़ दें, उनसे कम बात करने लगें, उनके जीवन से जुड़ी बातों के बारे में पूछना कम कर दें तो वह सोचने लगती हैं कि आप उनकी अनदेखी कर रहे हैं। ऐसे में वह आपसे दूर होने की कोशिश करने लगेगी। इसलिए उससे ऐसे व्यवहार करें कि वो सबसे खास है। उनकी आँखों में झाँककर देखें। जब भी आपको वक्त मिले उनसे मिलकर बातें करें। जब भी वह खूबसूरत लगे तारीफ करना न भूलें।

कभी भी समय में न बाँधें
WD|
अपनी गर्लफ्रेंड को कहीं घूमने जाने का वादा कर देर से पहुँचने की आदत को अभी ही बदल डालें। यह तभी तक अच्छा है, जब तक कि आप अकेले हैं। लेकिन जब आपकी जिन्दगी से कोई और जुड़ गया है तो कोशिश करें कि आप उसके साथ ज्यादा से ज्यादा समय बिताएँ। ये कुछ छोटी-छोटी बातें हैं जिन पर अमल करके आप अपने साथी को हमेशा खुश रख सकते हैं, क्योंकि वह आपके लिए स्पेशल और महत्वपूर्ण जो है।



और भी पढ़ें :