खाद्य तेल के उपयोग एवं सावधानियाँ

सेहत के लिए लाभकारी तेल का इस्तेमाल करें

WD|
न्यूजीलैंड के कप्तान डेनियल विटोरी ने दूसरे क्रिकेट टेस्ट में भारत के खिलाफ जीत का सुनहरा मौका हाथ से फिसल जाने के लिए आज पिच को दोषी ठहराते हुए कहा कि यह विकेट बल्लेबाजी के लिए आखिर तक मुफीद बना रहा।

विटोरी ने कहा कि आम तौर पर टेस्ट के आदर्श विकेट पर उछाल होती है और मैच के अंतिम पलों में यह टूटने लगता है, लेकिन यह विकेट तो बल्लेबाजी के इतना अनुकूल था कि आप चाहें तो इस पर पाँच-छह दिन तक भी बल्लेबाजी जारी रख सकते थे।

न्यूजीलैंड पहली पारी में भारत को फॉलोऑन कराने के बावजूद यह मैच नहीं जीत पाया। भारत ने दूसरी पारी में 180 ओवर तक बल्लेबाजी करते हुए सिर्फ चार विकेटों के नुकसान पर 476 रन बनाकर यह टेस्ट ड्रॉ करा लिया।
विटोरी ने इस पर नाखुशी जताते हुए कहा कि मुझे लगता है कि हरेक आदमी टेस्ट की विकेट टूटते हुए देखना चाहता है ताकि स्पिनरों को मदद मिले और गेंद असमतल तरीके से उछले। मैच आगे बढ़ने के साथ ही बल्लेबाजी करना मुश्किल होते जाना चाहिए, लेकिन इस मैच में तो शुरू से आखिर तक बल्लेबाजी करना आसान रहा।

खुद एक मंजे हुए स्पिनर विटोरी ने कहा कि इस विकेट को देखकर कभी भी ऐसा नहीं लगा कि बल्लेबाजी क रना मुश्किल हो गया है। उन्होंने कहा कि अगर आप विकेट के हिसाब से खुद को थोड़ा ढाल लें तो यहाँ पर आप मनचाहे समय तक बल्लेबाजी कर सकते थे, लेकिन भारतीय कप्तान वीरेंद्र सहवाग ने विकेट के बर्ताव को लेकर कोई शिकायत नहीं की।
उन्होंने कहा कि मैं तो इसे एक अच्छी पिच ही कहूँगा। हमने तो अपने देश और विदेशों में इससे भी अधिक सपाट विकेटों पर मैच खेला है। तीन मैचों की सिरीज में 1-0 से आगे चल रहे भारत की नजरें अब वेलिंगटन में होने वाले अंतिम टेस्ट पर टिकी होंगी। अगर वेलिंगटन टेस्ट ड्रॉ भी रहता है तो भारत न्यूजीलैंड में 42 साल बाद सिरीज जीतने में कामयाब हो जाएगा।

 

और भी पढ़ें :