लॉक डाउन में बच्चों को सिखाएं सूर्य नमस्कार, बढ़ेगी रोग प्रतिरोधक क्षमता

Surya Namaskar
Surya Namaskar
 
की दूसरी लहर काफी खतरनाक है। इससे बचाव के लिए हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं। अभी तक युवा, वयस्क और बूढ़ों को इस बीमारी से बचाव के लिए सतर्क किया जा रहा था। लेकिन आने वाली तीसरी लहर में बच्चों पर भी असर होगा ऐसी संभावना जताई जा रही है।

हालांकि इस वायरस से बचाव के लिए इम्युनिटी सिस्टम मजबूत होना जरूरी है, यही बात अब बच्चों पर भी लागू होती है। इसके लिए वह घर में रहकर सूर्य नमस्कार जरूर करें। आइए जानते हैं सूर्य नमस्कार करने के फायदे
-

- सूर्य नमस्कार हमेशा सूर्य की तरफ मुंह करके करना चाहिए। इससे सूर्य से ऊर्जा भी मिलती है और इम्युनिटी लेवल भी बढ़ता है। शुरुआत में बच्चे इसे क्षमता अनुसार करें। धीरे-धीरे इसे बढ़ाते जाएं। इसी के साथ सूर्य नमस्कार करने की स्पीड भी बढ़ाएं।


- रोज सूरज की ओर मुंह करके सूर्य नमस्कार करने से शरीर में विटामिन डी भी मिलता है। जिससे हड्डियां मजबूत होती है।

- यह रोज करने से आलस्य, अनिद्रा जैसी समस्या दूर होगी।

- सूर्य नमस्कार करने से पूरी बॉडी की एक्सरसाइज एक साथ होती है। इससे शरीर में ताजगी भी आती है।

- यह योग छोटी उम्र में करने से बॉडी में लचीलापन बना रहता है।

- कई बच्चे बचपन से ही काफी मोटे होते हैं, लेकिन वक्त के साथ उनकी हेल्थ बढ़ती जाती है। सूर्य नमस्कार की मदद से छोटी उम्र में जल्दी वजन कम किया जा सकता है।

- सूर्य नमस्कार करने से फेफड़े तथा पसलियों की मांसपेशियां भी मजबूत होती है।

- सूर्य नमस्कार 12 आसानों से मिलकर बना है। इसलिए इसे सभी उम्र के लोग कर सकते हैं।

- सूर्य नमस्कार करने से खून का प्रवाह पूरी बॉडी में सुचारू रूप से होता है।

- यह योग करने से त्वचा संबंधी बीमारी से छुटकारा पाया जा सकता है।

ध्यान रखने योग्य बातें -

- शुरुआत में बच्चों से उनकी क्षमता अनुसार ही सूर्य नमस्कार कराएं।

- योग एक्सपर्ट से जरूर चर्चा करें।

- अगर कोई गंभीर बीमारी है तो डॉ. की सलाह ले कर सूर्य नमस्कार करें।

- शुरुआती दौर में सूर्य नमस्कार की हर क्रिया को ध्यानपूर्वक और आराम से करें।





और भी पढ़ें :