इन 6 योग मुद्राओं को करते रहने से चेहरा बना रहेगा जवान

face
उम्र का असर सबसे पहले चेहरे पर आता है। उम्र बढ़ने के साथ चेहरे पर झुरियां, आंखों के नीचे कालापन और कपाल पर सिलवटें पड़ जाती हैं। हमारा चेहरा भी कुछ कुछ बदलने लगता है। वर्तमान में प्रदूषण और गलत खानपान के कारण यह और भी तेजी से होने लगा है। ऐसे में यहां बहुत ही सरल कुछ योगा दी जारी है। इन्हें आजमानें से आप बने रहेंगे।

टिप्स- सबसे पहले आप अपना पेट साथ रखें क्योंकि पेट खराब है तो इसका असर सबसे पहले चेहरे पर होता है। इसके लिए संतुलित, शुद्ध और उत्तम भोजन करें। सप्ताह में एक बार उपावास जरूर रखें। इसके अलावा चेहरे को बार-बार पानी से धोते रहें, एक बार सोने से पहले शहद लगाकर सोएं। घर से बाहर निकलने से पहले ग्लिसरीन ये वैसलीन लगाकर निकलें। ज्यादा चिंता न पालें। ड्रायफूड खाते रहें। अब जानें कि वे कौन सी 6 मुद्राएं हैं जिन्हें करने से चेहरा दमकता रहता है।

1. काली मुद्रा- अपनी जीभ को सुविधानुसार बाहर निकाल दें। आपने मां कालीका का फोटो देखा होगा, बस उसी तरह की मुद्रा में 30 सेकंड तक रहें।


लाभ- इससे आपकी आंखों में जमा पानी और विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाता है या अंदर पेट में पहुंच जाता है। इससे आंखें स्वस्थ होकर अच्छा महसूस करती है। साथ ही यह आंखों के नीचे बनी झुर्रियां और कालापन भी मिटाता है।

2.आंखों की एक्सरसाइज- चेहरा सामान्य रखें और फिर आंखों की पुतलियों को दाएं और फिर बाएं घुमाएं दोनों तरफ 30-30 सेकंड तक पुतलियों को स्थिर रखें। फिर ऊपर-नीचे और फिर गोल-गोल घुमाएं। इसे डांसिंग आई बॉल कह सकते हैं।


लाभ- इससे आपकी आंखों की नसे मजबूत होगी जिसके चलते देखने की क्षमता का पतन नहीं होगा। उम्र बढ़ने के साथ आंखें भी गड्डे में जाने लगती है, लेकिन इसे करने से आखें बराबर जवाब बनी रहेगी।
3.आंख मींचना- हाथों की मुठ्टियां बांधकर ऊपर चेहरे तक उठाएं और दोनों आंखों को जोर से बंदरकर अंदर मींच लें।


लाभ- इससे मस्तिष्क पर पड़ी सलवटें मिटती है। साथ ही आंखों का तनाव भी मिट जाता है।


3.चेहरा बनाएं मछलीनुमा-
गालों को अंदर भींचकर चेहरे को मछलीनुमा बनाएं। इसे आप स्माइल फिश फेस योगा कह सकते हैं। आप किस (चूमना) जैसी आकृति भी बना सकते हैं। इसी तरीके को बार-बार दोहराएं। फिर गर्दन ऊंची करके बत्तीसी मिलाकर हंसे।

लाभ- इससे गाल और होठों के आसपास की झुर्रियां मिटती है।


5.शेर चेहरा- पहले जीभ को पुरी ताकत के साथ बाहर निकाले और फिर आंखों को तान दें। बिल्कुल शेर की तरह। अब मुंह का फुग्गा फुलाएं अर्थात मुंह में हवा भरें और उसे दाएं-बाएं घुमाएं।


लाभ- शेर जैसा चेहरा बनाने से चेहरे की सभी मांसपेशियां संचालित होकर स्वस्थ बनती है।

6- बुद्धा फेस- अंत में आंखें बंद कर विश्राम की मुद्रा में बैठ जाएं और दोनों भोओं के बीच ध्यान को लगाएं। कुछ देर तक इसी तरह शांत बैठें रहें। यह वैसे ही है जैसे कि हम कसरत करने के बाद कुछ देर आराम करते हैं तो हमारी मांसपेशियां रिलेक्स हो जाती है।


नोट- सभी मुद्राएं 20 से 30 सेकंड तक ही करें।


 

और भी पढ़ें :