karwa chauth 2020 : कोरोना काल में भी करवा चौथ होगा 'स्टाइलिश’



पति की लंबी उम्र की कामना करते हुए पत्नी के करवाचौथ का व्रत रखने की पुरानी परंपरा अब आधुनिकता के रंग में रंग चुकी है और बाजार के बढ़ते प्रभाव ने विभिन्न पैकेजों की पेशकश के बीच पूजा की थाली से लेकर चांद को देखने वाली छलनी तक को ‘डिजाइनर’ और 'स्टाइलिश’बना दिया है।

'परंपरागत साड़ियां तो आज भी हैं लेकिन अब महिलाएं खास कर युवतियां डिजाइनर साड़ियां, लहंगे, सलवार सूट की मांग करती हैं। डिजाइनर परिधानों में भी उनकी पसंद बिल्कुल नवीनतम होती है। इस बार कोरोना की वजह से घर में ही मनेगा पर्व इसलिए ऑनलाइन लहंगे की मांग अधिक है।

क्वॉलिटी के अनुसार कीमत भी अधिक है लेकिन लहंगों की बिक्री भी खूब हो रही है।

पूजा के सामान की दुकान के एक संचालक गोविदं गेरा कहते हैं 'हमारे यहां डिजाइनर थाली और डिजाइनर छलनी है और इनकी ग्राहकी अच्छी है। डिजाइनर थाली में रखा जाने वाला सूखा मेवा, पूजा का सामान भी हमने आकर्षक पैकिंग में रखा है और इन सभी पर चांद, कलश, स्वास्तिक, ओम जैसे शुभ प्रतीक कलात्मक तरीके से तैयार किए गए हैं।'

डिजाइनर छलनी को पेंट, मांडना, मोती, कुंदन, जरी से सजाया गया है। संपन्न वर्ग के लिए सोने और चांदी की छलनियां भी हैं। करवों को भी सजा कर डिजाइनर लुक देने की कोशिश की गई है।'

ब्यूटी पार्लर भी विशेष पैकेज की पेशकश करते तैयार हैं।
ब्यूटी पार्लर की संचालक शानू ग्रोवर
कहती हैं 'अब फेशियल, मेनीक्योर, पेडीक्योर पुरानी बातें हो गईं हैं। खास अवसर के लिए स्पेशल हेयर ट्रीटमेंट, स्किन ट्रीटमेंट की बुकिंग पहले से हो जाती है। करवाचौथ के लिए भी यही हो रहा है लेकिन कोरोना के चलते हम एक-एक करके बुकिंग ले रहे हैं ताकि इंतजार भी न करना पड़े और सोशल डिेस्टेंसिंग का ध्यान भी रखा जा सके। हम किराए पर आर्टीफीशियल ज्वेलरी भी दे रहे हैं।'

ब्यूटिशियन अंकिता कर्निक कहती हैं 'मेहंदी के लिए शुरूआत 250 रूपए से हो रही है। अंतिम कीमत इस पर तय होती है कि आपको हाथों में और पैरों में कहां तक मेहंदी लगवानी है। अलग-अलग रंगों वाली स्टीकर मेहंदी की मांग ज्यादा हो रही है।
कुछ होटलों में भी सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों के साथ करवाचौथ के अवसर पर विशेष आयोजन किए जा रहे हैं। इन आयोजनों में सर्वश्रेष्ठ जोड़ी, सर्वश्रेष्ठ ड्रेस, सर्वश्रेष्ठ थाली जैसी कुछ स्पर्धाएं और विजेता जोड़ी के लिए मुफ्त डिनर आदि हैं। सबसे ज्यादा ट्रासंपेरेंट मास्क फैशन में है ताकि बचाव भी हो और मेकअप भी दिखाई दे।

कुछ होटलों की तरफ से करवाचौथ के लिए सरगी का इंतजाम सुबह तीन से चार बजे किया जा रहा है। सरगी में फेनी, केला, दूध, गुलाब जामुन और मिठाई होगी। इसके लिए अलग से कोई पैसा नहीं लिया जाएगा।

इसी दिन रात नौ बजे से साढ़े दस बजे तक पूजा के लिए मेवे, पूना, नैज और सुहागी (बिन्दी, चूड़ी, काजल, फीता और मेहंदी) का इंतजाम होटल की ओर से ही होगा लेकिन इसका भुगतान करना होगा।

अर्क, करवे सहित पूजा की थाली होटल से मुफ्त में मिलेगी जिसमें चावल, उड़द की साबुत दाल, दूब, फूल, कुंकुम होगा। रात को जोड़ों के लिए ग्रुप में व्रत खोलने की भी व्यवस्था है और हां डिनर की व्यवस्था तो है ही...

पर राशि अनुसार कैसे करें श्रृंगार, कौन सी पूजा होगी शुभ
कैसे करें करवा चौथ व्रत को, जानिए सरल विधि




और भी पढ़ें :