बजट वाले दिन बंद रहेंगे बैंक, 31 और 1 को हड़ताल

नई दिल्ली। 31 जनवरी और 1 फरवरी को अपनी मांगों को लेकर बैंककर्मी पर रहेंगे। यदि उनकी मांगों पर अमल नहीं होता है तो मार्च में 11 12 और 13 मार्च को 3 दिन की हड़ताल होगी। खास बात यह है कि 31 को आर्थिक सर्वे जारी होगा, जबकि 1 फरवरी को वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण 2020-21 का पेश करेंगी।

दरअसल, बातचीत विफल रहने के बाद सभी बैंक यूनियनों ने हड़ताल जारी रखने का फैसला लिया है। कल (शुक्रवार) और परसों (शनिवार को) बैंक हड़ताल रहेगी। इतना ही नहीं मार्च में भी 3 दिन हड़ताल रखने का फैसला किया है। बताया जा रहा है कि बात नहीं बनी तो बैंक कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का कदम उठा सकते हैं।

बैंक कर्मचारी नवंबर 2017 से अपना वेतन बढ़ाने की मांग कर रहे हैं। बैंक हड़ताल से ठीक पहले मुख्य श्रम आयुक्त ने इंडियन बैंक्स एसोसिएशन को बैंक यूनियंस के साथ वेतन समझौते के लिए मीटिंग बुलाने के लिए निर्देश दिए थे। उसी के तहत गुरुवार को बैठक बुलाई गई, लेकिन कर्मचारियों की मांग को लेकर कोई बात नहीं बनी।

उल्लेखनीय है कि बैंक कर्मचारी नवंबर 2017 से सैलरी बढ़ाने की मांग कर रहे हैं। अभी तक 12.25% वेतन बढ़ाने का ऑफर किया गया है, जो कि बैंक यूनियंस की मंजूर नहीं है।



और भी पढ़ें :