मशविरा

WD| पुनः संशोधित बुधवार, 4 सितम्बर 2013 (11:10 IST)
FILE
मेरी जां इस क़दर अंधे कुएं में
भला यूं झांकने से क्या दिखेगा
कोई पत्थर उठाओ और फेंको
अगर पानी हुआ तो चीख उठेगा

-मोहम्‍मद अलवी


और भी पढ़ें :