Diwali Sweets Recipes : दीपावली की 5 पारंपरिक मिठाई, आप भी अवश्य करें ट्राय

Diwali 5 Sweets
दीपावली के त्योहार पर मिठाई का अपना अलग ही मजा है। यहां पाठकों के लिए प्रस्तुत हैं 5 तरह के मीठे व्यंजन बनाने की सरल विधियां...

राजशाही मिठाई लवंग लता

सामग्री : 50 ग्राम मैदा, 25 ग्राम मावा, आधा चम्मच खोपरा बूरा, आधा चम्मच भूनी खसखस, 5 लौंग, पाव चम्मच इलायची पावडर, 4 से 5 बूंद गुलाब एसेंस, पाव कटोरी कटा मेवा, 200 ग्राम शुद्ध घी।

विधि : सबसे पहले 50 ग्राम मैदे में एक चम्मच घी का मोयन मिलाकर कम पानी की सहायता से मुलायम गूंथ लें। दूसरी तरफ एक पैन में मावे को हल्का सुनहरा होने तक भून लें। मावे में खोपरा बूरा, पीसी इलायची, भूनी खसखस और चाहे तो 10 से 15 टुकड़े कटा मेवा मिला लें। इसके बाद 50 ग्राम शक्कर में 25 एमएल पानी डालकर एक तार की चाशनी बना लें। इसमें 4 से 5 बूंद गुलाब एसेंस मिलाएं।

अब आटे की छोटी-छोटी लोई बनाकर इसे पतला बेल लें। इसमें मावे का तैयार मिश्रण भरें और चारों तरफ से पोटली के आकार में मोड़ कर ऊपर लौंग लगा दें। फिर गर्म घी में बादामी रंग होने तक डीप फ्रॉय करें। इस पोटली को तैयार की गई चाशनी में 15 मिनट तक मिलाएं और ठंडा होने के बाद चांदी का वर्क लगाकर सर्व करें। 50 ग्राम मैदा में 7 से 8 पीस लवंग लता तैयार होती है।

स्वादिष्ट मावा गुझिया

सामग्री : 250 ग्राम मैदा, पाव कटोरी घी (मोयन के लिए), 150 ग्राम खोया/मावा, 200 ग्राम पिसी चीनी, पाव कटोरी कटे मेवे, आधा छोटा चम्मच इलायची पावडर, 1 कटोरी चीनी, किशमिश, तलने के लिए घी, पाव कटोरी दूध।

विधि : खोया/मावे को चलनी से छान कर कड़ाही में धीमी आंच पर गुलाबी सेंक कर ठंडा कर लें। अब उसमें शक्कर बूरा, कटे मेवे, इलायची पावडर, किशमिश, डालकर अच्छी तरह मिलाकर मिश्रण तैयार कर लें।

मैदे में मोयन डाल कर गूंथ कर रख लें। मैदे की छोटी-छोटी लोई बनाकर गोल पूरी बेलकर मावे का मिश्रण भरें और ऊपर से दूसरी पूरी ढंक कर किनारों पर दूध लगा कर उसे चारों ओर से चिपका दें। थोड़ी देर कपड़े पर सुखने के लिए रखें।

इस तरह सभी गुझिया तैयार कर लें और एक कड़ाही में घी गरम करके धीमी आंच पर तल लें। तैयार गरमा-गरम मावा गुझिया सर्व करें।


टेस्टी-टेस्टी अनारसे


सामग्री : 3 से 4 कप चावल, शक्कर, पाव कटोरी चम्मच खसखस, देशी घी या डालडा घी, थोड़ा-सा दूध।

विधि : अनारसे बनाने की प्रक्रिया तीन दिन पहले से शुरू हो जाती है। जिस दिन अनारसे बनाना है उससे तीन दिन पहले चावल को धो लें। उसके बाद चावल में पानी डालकर रात भर के लिए रख दें। दूसरे दिन चावल का पानी बदल कर फिर से रात भर के लिए रख दें। तीसरे दिन चावल से पानी अलग कर चावल सुखा लें और फिर उसे मिक्सी में ग्राइंड कर लें।

चावल से थोड़ी कम मात्रा में शक्कर लेकर उसे भी मिक्सी में ग्राइंड कर लें। चावल और शक्कर को मिलाकर गूंथ लें और फिर रात भर के लिए रख दें। इसके बाद अनारसे बनाने से तीन-चार घंटे पहले दूध से आटा गूंथकर ढंक कर रखें। तीन चार घंटे बाद आटे की छोटी-छोटी लोई बना लें।

अब एक अलग थाली में थोड़ी-सी खसखस बिखेर दें। उस पर अनारसे की लोई रखें और हाथ से थोड़ी बड़ी कर लें। इस तरह उसके एक भाग में खसखस चिपक जाएगी। अब लोई के जिस भाग में खसखस लगी है उस तरफ से घी में गोल्डन ब्राउन होने तक तल लें। लीजिए तैयार हैं आपके दीपावली के विशेष अनारसे। इसे सिर्फ एक तरफ से ही तला जाता है। यह अनारसे एक तरह से मुलायम और दूसरी तरफ से थोड़े कड़े होते हैं।

मैदे के मीठे पेठे

सामग्री : मैदा 4 कप, रवा आधा कप, एक कटोरी घी (मोयन के लिए), चुटकी भर नमक, थोड़ा-सा बेकिंग पावडर, दो कटोरी शक्कर, तलने के लिए घी अलग से।

विधि : सबसे पहले रवा और मैदा छान लें। अब उसमें नमक व गरम घी का मोयन देकर गुनगुने पानी से कड़ा आटा गूंथ लें। फिर उसकी बड़ी-बड़ी लोई बनाकर उसे मोटा बेल लें। अब चाकू की सहायता से उसकी लंबी-लंबी स्ट्रिप काट लें और कपड़े पर सुखने के लिए अलग-अलग फैला दें।

अब एक कड़ाही में घी गरम करके धीमी आंच पर सारे पेठे तल लें। ध्यान रखें कि पेठों का रंग ज्यादा न बदलें। सारे पेठे तलने के बाद एक बर्तन में शक्कर में आधा कप पानी डालकर बूरे की चाशनी तैयार करें।

पेठे ठंडे होने के बाद कड़छी की सहायता से उन पर चाशनी बिखेरती जाएं। जब सारे पेठों पर चाशनी चढ़ जाए और वे पूरी तरह ठंडे हो जाए तब उन्हें एयर टाइट डिब्बे में भर दें और दीपावली के पर्व का मीठे पेठे के साथ आनंद उठाएं।

मेवा करंजी

सामग्री : 100 ग्राम खोया, 1 कटोरी मैदा, पाव कटोरी घी (मोयन के लिए), 100 ग्राम बादाम की गिरी, 10 ग्राम शक्कर का बूरा, आधा कटोरी मिलेजुले कटे ड्रायफ्रूट्‍स, आधा छोटा चम्मच इलायची पावडर, तलने के लिए घी, थोड़ा-सा दूध।

विधि : सबसे पहले बादाम की गिरी को रातभर पानी में भिगोकर रख दें। सुबह भिगी बादाम के छिलके हटा लें और मिक्सी में पेस्ट बना लें। अब एक कड़ाही में थोड़ा-सा घी गरम करके पिसी बादाम को गुलाबी होने तक भून लें। थोड़ा ठंडा होने पर उसमें मावा, शक्कर का बूरा, कटे ड्रायफ्रूट्‍स, इलायची अच्छी तरह मिलाकर मिश्रण तैयार कर लें।

अब मैदा में मोयन डालकर कड़ा गूंध लें। आधे घंटे एक कपड़े से ढंककर रख दें। तत्पश्चात मैदे को एकसार करके उसकी छोटी-छोटी लोई बना कर पूरी बेल लें। अब एक छोटा चम्मच करंजी का मिश्रण पूरी के बीच में रखें और उसके दूसरे भाग को पलट कर मिश्रण को ढंक दें। अब दूध की सहायता से उसकी किनारे पैक करके उन्हें अच्छी तहर गूंथ लें। इस प्रकार सभी करंजी तैयार कर लें। अब कड़ाही में घी गरम करके धीमी आंच पर करंजी तल लें। ठंडी होने पर एयर टाइट डिब्बे भर दें। दीपावली पर्व पर मेवा करंजी का लुत्फ उठाएं।




और भी पढ़ें :