गुरुवार, 25 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. शेयर बाजार
  3. समाचार
  4. Sensex and Nifty gain due to buying in bank and IT stocks
Written By
Last Updated : सोमवार, 26 दिसंबर 2022 (18:11 IST)

4 दिन से जारी गिरावट पर लगा ब्रेक, बैंक व आईटी शेयरों में लिवाली से सेंसेक्स व निफ्टी में रही बढ़त

4 दिन से जारी गिरावट पर लगा ब्रेक, बैंक व आईटी शेयरों में लिवाली से सेंसेक्स व निफ्टी में रही बढ़त - Sensex and Nifty gain due to buying in bank and IT stocks
मुंबई। घरेलू शेयर बाजारों में पिछले 4 दिन से जारी गिरावट पर सोमवार को विराम लगा और बीएसई सेंसेक्स में 721 अंक से अधिक की तेजी आई। वैश्विक बाजारों में मजबूत रुख के साथ वित्तीय, आईटी तथा पेट्रोलियम शेयरों में लिवाली से बाजार को मजबूत समर्थन मिला। इससे पहले सेंसेक्स पिछले 4 दिन की गिरावट से 1,960 अंक यानी 3.29 प्रतिशत और निफ्टी 613 अंक यानी 3.99 प्रतिशत नीचे आया था।
 
30 शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 721.13 अंक यानी 1.20 प्रतिशत की बढ़त के साथ 60,566.42 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान एक समय यह 988.49 अंक तक चढ़ गया था। इसी प्रकार नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 207.80 अंक यानी 1.17 प्रतिशत की तेजी के साथ 18,000 के ऊपर 18,014.60 अंक पर बंद हुआ। इससे पहले सेंसेक्स शुक्रवार तक पिछले 4 दिन की गिरावट से 1,960 अंक यानी 3.29 प्रतिशत और निफ्टी 613 अंक यानी 3.99 प्रतिशत नीचे आया था।
 
सेंसेक्स के शेयरों में इंडसइंड बैंक सबसे ज्यादा 3.99 प्रतिशत चढ़ा। इसके अलावा भारतीय स्टेट बैंक (3.97 प्रतिशत), टाटा स्टील (2.74 प्रतिशत), बजाज फिनसर्व (2.53 प्रतिशत), आईटीसी (2.51 प्रतिशत), ऐक्सिस बैंक (2.44 प्रतिशत), एचडीएफसी बैंक (1.91 प्रतिशत), अल्ट्राटेक सीमेंट (1.98 प्रतिशत), एनटीपीसी (1.87 प्रतिशत) और टाटा मोटर्स (1.73 प्रतिशत) शामिल हैं। इसके अलावा आईसीआईसीआई बैंक और रिलायंस इंडस्ट्रीज में भी तेजी रही। दूसरी तरफ नुकसान में रहने वाले शेयरों में नेस्ले इंडिया, कोटक महिंद्रा बैंक, भारती एयरटेल, एचसीएल टेक्नोलॉजीज और हिन्दुस्तान यूनिलीवर शामिल हैं।
 
मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज लि. के खुदरा शोध प्रमुख सिद्धार्थ खेमका ने कहा कि पिछले सप्ताह तीव्र बिकवाली के बाद सोमवार को बाजार में मजबूती आई। हालांकि, विदेशों में छुट्टियों के कारण कोई घटनाक्रम नहीं होने से, हमारा मानना है कि बाजार में खबरों के आधार पर सकारात्मक रुख के साथ सीमित दायरे में उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकता है।
 
जियोजीत फाइनेंशियल सविर्सेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा कि 4 दिन की बिकवाली के बाद शेयरों के भाव में आई कमी से निवेशकों ने लिवाली की। वैश्विक बाजारों में सकारात्मक रुख से बाजार को गति मिली। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की अगुवाई में बाजार चढ़ा, वहीं मझोली और छोटी कंपनियों के शेयरों में मानक सूचकांक के मुकाबले अच्छी बढ़त रही। रुख के उलट मंदी और कोविड फैलने को लेकर आशंका बनी हुई है।
 
बीएसई 'स्मॉलकैप' और 'मिडकैप' क्रमश: 3.13 प्रतिशत और 2.31 प्रतिशत चढ़े। एशिया के अन्य बाजारों में दक्षिण कोरिया का कॉस्पी, जापान का निक्की और चीन का शंघाई कंपोजिट लाभ में रहे। यूरोप और अमेरिका के साथ कुछ एशियाई देशों में साल के अंत में अवकाश के कारण बाजार बंद रहे। इस बीच अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 3.63 प्रतिशत चढ़कर 83.92 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया। शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) ने शुक्रवार को शुद्ध रूप से 706.84 करोड़ रुपए मूल्य के शेयर बेचे।(भाषा)
 
Edited by: Ravindra Gupta
ये भी पढ़ें
असम के चाय बागान से हथगोले और हथियार बरामद, किसी की गिरफ्तारी नहीं