कब है देव दिवाली, जानिए क्या करते हैं इस दिन

अनिरुद्ध जोशी| Last Updated: गुरुवार, 18 नवंबर 2021 (14:24 IST)
हमें फॉलो करें
Dev Diwali 2021: कार्तिक अमावस्या के बाद पूर्णिमा के दिन देव दिवाली मनाई जाती है। इस बार 19 नवंबर 2021 शुक्रवार को देव दिवाली मनाई जाएगी। इसे त्रिपुरारी पूर्णिमा इसलिए कहते हैं क्योंकि प्राचीन समय में इस तिथि पर शिवजी ने त्रिपुरासुर नाम के दैत्य का वध किया था। इसके अलावा मान्यता है कि कार्तिक पूर्णिमा पर ही भगवान विष्णु ने मत्स्यावतार भी लिया था। इसी दिन सिख गुरु नानकदेवजी का जन्म भी हुआ था। आओ जानते हैं कि क्या करते हैं इस दिन।


1. दीपदान : इस दिन सभी नदी तीर्थ क्षेत्रों में घाटों और नदियों में दीपदान किया जाता है। देव दिवाली देवता मनाते हैं। मान्यताओं के अनुसार देव दीपावली के दिन सभी देवता गंगा नदी के घाट पर आकर दीप जलाकर अपनी प्रसन्नता को दर्शाते हैं। इसीलिए इस दिन गंगा स्नान कर दीपदान का महत्व है। इस दिन दीपदान करने से लंबी आयु प्राप्त होती है।

2. तुलसी पूजा : इस दिन तुलसी के पौधे और शालिग्राम की पूजा की जाती है। कई राज्यों में तुलसी विवाह होता है।

3. स्नान : इस दिन नदियों में स्नान करने का खास महत्व है। इस दिन पवित्र नदी में स्नान करें। स्नान करने के बाद सूर्य को जल चढ़ाएं। स्नान के बाद दीपदान, पूजा, आरती और दान करें। इस दिन गंगा के तट पर स्नान कर दीप जलाकर देवताओं से किसी मनोकामना को लेकर प्रार्थना करें।

4. सत्यनाराण भगवान की कथा : सत्यनारायण भगवान की कथा का श्रवण करें।



और भी पढ़ें :