तिहाड़ में Nirbhaya Case के चारों दुष्कर्मियों की फांसी की दूसरी रिहर्सल, वजन के पुतलों को फंदे पर लटकाया

Nirbhaya Case
पुनः संशोधित मंगलवार, 28 जनवरी 2020 (00:22 IST)
नई दिल्‍ली। में सोमवार को निर्भया सामूहिक बलात्कार एवं हत्याकांड में मृत्युदंड पाए 4 दोषियों के पुतलों को फांसी देने की औपचारिकता पूरी की गई। जेल प्रशासन ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि दोषियों को फांसी देने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले उपकरणों का परीक्षण करने के लिए जेल अधिकारियों द्वारा तीसरी बार पुतलों को फांसी दी गई है।
अधिकारियों ने बताया ये पूरी प्रकिया सोमवार को दोपहर में की गई और अगले कुछ दिनों तक इसे दोहराया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि फांसी में इस्तेमाल होने वाली रस्सी उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले से मंगाई गई है। जेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कैदियों के वजन के अनुसार, बोरों में गेहूं और बालू भरकर पुतले बनाए गए थे।

दिल्ली की एक अदालत ने 17 जनवरी को विनय शर्मा (26), अक्षय कुमार सिंह (31), मुकेश कुमार सिंह (32) और पवन (26) को एक फरवरी को सुबह 6 बजे फांसी देने का आदेश जारी किया था। लंबित याचिकाओं के कारण 22 जनवरी को होने वाली फांसी को स्थगित कर दिया गया था।

उन्होंने बताया, हम फांसी से पहले उसमें इस्तेमाल होने वाली चीजों की गुणवत्ता की जांच कर रहे हैं। 3 दिन के बाद जल्लाद को भी बुला लिया जाएगा। दोषियों के पास अपने परिवार से आखिरी बार मिलने के बारे में निर्णय करने के लिए 3-4 दिन का समय है।

सूत्रों ने बताया कि दिन में अक्षय कुमार सिंह की पत्नी, मां और भतीजा जेल में उससे मिलने आए। उन्होंने बताया कि फांसी से पहले अभी तक उनके पास अपने परिवार से आखिरी बार मिलने का मौका है।



और भी पढ़ें :