1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. Ruckus in Kashmir against Yasin Maliks sentence Internet shutdown after violent protests, stone pelting
Written By सुरेश एस डुग्गर
Last Updated: बुधवार, 25 मई 2022 (19:56 IST)

यासीन मलिक की सजा के खिलाफ कश्मीर में बवाल, हिंसक प्रदर्शन, पत्थरबाजी के बाद इंटरनेट बंद

जम्मू। जम्मू-कश्मीर लिब्रेशन फ्रंट के अलगाववादी नेता यासीन मलिक को उम्रकैद की सजा सुनाए जाने के बाद कश्मीर में बवाल मचा हुआ है। कई इलाकों में हिंसक प्रदर्शन हुए हैं और पत्थरबाजों को खदेड़ने की खातिर सुरक्षाबलों को लाठीचार्ज व आंसू गैस का सहारा लेना पड़ा है। स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। इस कारण प्रशासन ने कई इलाकों में इंटरनेट को बंद कर दिया है।
सजा के खिलाफ श्रीनगर के मैयसूमा इलाके में प्रदर्शन के बाद पत्थरबाजी होने की घटना सामने आई है। बताया जा रहा है कि भीड़ को काबू करने के लिए सुरक्षाबलों ने आंसू गैस के गोले दागे। फिलहाल, मौके पर तनाव की स्थिति बनी हुई है। बड़ी संख्या में सुरक्षाबल मौके पर तैनात हैं।
श्रीनगर के मैयसूमा इलाके में ही यासीन मलिक का घर है और यहां पर यासीन के कई समर्थक रहते हैं। उसे सजा मिलने के बाद यहां पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। बुधवार को श्रीनगर के कुछ इलाकों में बंद की स्थिति भी देखने को मिली है। जम्मू-कश्मीर में पुलिस और सुरक्षाबलों ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए हैं।

जम्मू-कश्मीर में पुलिस ने दोनों संभागों के शहर और उसके साथ लगते इलाकों में विशेष नाके स्थापित कर सुरक्षा व्यवस्था को और कड़ा कर दिया है। श्रीनगर में यासीन मलिक मामले को लेकर आंशिक बंद देखा गया। श्रीनगर के कुछ इलाकों में कुछ दुकानें और कारोबार बंद हैं।

हालांकि गाड़ियों की आवाजाही जारी है। सुरक्षाबल सतर्कता बनाए हुए हैं। कश्मीर में शहर में सुरक्षाबलों की गश्त बढ़ाने के साथ-साथ जगह-जगह विशेष नाके स्थापित किए गए हैं। आने-जाने वाले लोगों की गहन तलाशी ली जा रही है। पुलिस, सेना व अर्द्धसैनिक बलों को अलर्ट पर रहने को कहा गया है।
इसके साथ ही सीमांत क्षेत्रों में भी सुरक्षाबलों के जवान लगातार गश्त कर रहे हैं कि कोई भी संदिग्ध व्यक्ति किसी प्रकार की वारदात या हिंसा को अंजाम न दे पाए। सभी थाना प्रभारियों को एसएसपी जम्मू चंदन कोहली ने निर्देश दिए हैं कि वे स्वयं बाजारों में गश्त करें और नाके लगाकर सुरक्षा को सुनिश्चित बनाएं। जम्मू में सभी संवेदनशील स्थानों में सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है।