राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक कर्तव्य पथ की सुरक्षा के लिए तैनात किए जाएंगे निजी सुरक्षा गार्ड

पुनः संशोधित गुरुवार, 8 सितम्बर 2022 (21:14 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। से तक के उद्घाटन के साथ ही इसकी सुरक्षा के लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं। पुलिसकर्मियों के अलावा 80 से अधिक नए सिरे से तैयार पूरे खंड पर नजर रखेंगे ताकि चोरी और नुकसान की घटनाओं को रोका जा सके। अधिकारियों ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

एक अधिकारी के मुताबिक कम से कम 2 महीने तक बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी और सुरक्षा गार्ड तैनात रहेंगे, हालांकि आगंतुकों के लिए कोई बड़ा प्रतिबंध नहीं होगा। परियोजना का क्रियान्वयन कर रही एजेंसी केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (सीपीडब्ल्यूडी) ने पूरे गलियारे को 5 हिस्सों में विभाजित किया है- इंडिया गेट, सी हेक्सागोन से मानसिंह रोड, मानसिंह रोड से जनपथ, जनपथ से रफी मार्ग और रफी मार्ग से विजय चौक। योजना के तहत इंडिया गेट से मानसिंह रोड तक उद्यान क्षेत्र में खाद्य सामग्री की अनुमति नहीं होगी।
अधिकारी ने कहा कि साफ-सफाई बनाए रखना एक चुनौती होगी, क्योंकि उद्घाटन के बाद बड़ी संख्या में लोग इस क्षेत्र में पहुंचेंगे जिसे राष्ट्रीय राजधानी में सबसे लोकप्रिय सार्वजनिक स्थान माना जाता है। उन्होंने कहा कि नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (एनडीएमसी) के सफाई कर्मचारियों को समुचित संख्या में क्षेत्र में तैनात किया जाएगा। अधिकारी ने कहा कि हमने लोगों से साफ-सफाई बनाए रखने की अपील की है। सफाई कर्मचारियों की बड़ी टीम तैनात की जाएगी।
अधिकारी ने कहा कि पूरे खंड पर 80 से अधिक सुरक्षा गार्ड तैनात किए जाएंगे। हमने दिल्ली पुलिस से भी अपने जवानों को तैनात करने का अनुरोध किया है। सुरक्षाकर्मियों की तैनाती के पीछे उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि कोई चोरी न हो और नई स्थापित सुविधाओं को नुकसान न पहुंचे।

एक अन्य अधिकारी ने सुविधाओं के बारे में बताया कि इंडिया गेट के पास 2 ब्लॉक हैं और प्रत्येक ब्लॉक में 8 दुकानें हैं। उन्होंने कहा कि आइसक्रीम बेचने वाली गाड़ियों को केवल 'वेंडिंग जोन' में ही जाने की अनुमति होगी। उन्होंने कहा कि अभी कोई निर्णय नहीं लिया गया है, लेकिन यह सुनिश्चित किया जाएगा कि सड़कों पर आइसक्रीम ट्रॉली की अनुमति नहीं हो। पूरे खंड पर 1,125 वाहनों के लिए पार्किंग की जगह बनाई गई है। इंडिया गेट के पास 35 बसों के लिए पार्किंग की जगह भी तैयार की गई है।
सेंट्रल विस्टा की पुनर्विकास परियोजना के तहत एक नया त्रिकोणीय संसद भवन, एक साझा केंद्रीय सचिवालय, 3 किलोमीटर लंबे राजपथकों की साज-सज्जा, प्रधानमंत्री का नया निवास और कार्यालय तथा उपराष्ट्रपति के एक नए एन्क्लेव की परिकल्पना की गई है।(भाषा)



और भी पढ़ें :