गिरफ्तार DSP देवेंद्र सिंह की आफत बढ़ी, लिया जा सकता है राष्ट्रपति पदक, आतंकियों की तरह होगा केस दर्ज

DSP Davinder Singh
Last Updated: मंगलवार, 14 जनवरी 2020 (00:44 IST)
नई दिल्ली। श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर के खूंखार आतंकवादियों के साथ वाहन में सफर कर रहे के DSP देवेंद्र सिंह की मुसीबतें काफी ज्यादा बढ़ने जा रही हैं। गिरफ्तारी के बाद जिस वीरता के लिए उसे दिया गया था, वह उससे वापस लिया जा सकता है। यही नहीं, उसके साथ वही सलूक किया जाएगा, जो आतंकियों के साथ किया जाता है। आतंकी के तौर पर उसके खिलाफ केस भी दर्ज होगा।
आईजीपी विजय कुमार ने कहा कि हमारे ही महकमे के एक डीएसपी रैंक के अधिकारी ने जघन्‍य अपराध किया है। वह देश के दुश्मनों के साथ पकड़ा गया है, लिहाजा इसमें किसी तरह की नरमी नहीं बरती जाएगी। यह भी पता लगाया जा रहा है कि मामूली से सब इंस्पेक्टर से भर्ती होकर वह डीएसपी तक कैसे पहुंचा।
DSP Davinder Singh

आर्मी बेस के निकट तैयार हो रहा था घर : डीएसपी देवेंद्र सिंह का एक आलीशान घर श्रीनगर के इंदिरा नगर इलाके में 2017 से तैयार हो रहा है। उसका नया घर आर्मी बेस के निकट है। इंडिया टुडे की एक रिपोर्ट के मुताबिक उसके घर की दीवार 15 कॉर्प्स के हेड क्वार्टर्स से लगी हुई है।

रिश्तेदार के घर रहता था
देवेंद्र सिंह
:
पता चला है कि बीते 5 सालों से डीएसपी देवेंद्र सिंह अपने एक रिश्तेदार के घर किराए पर रहा था। गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने उसके रिश्तेदार की भी तलाश की, जहां फिलहाल ताला लगा हुआ है। सनद रहे कि देवेंद्र की एक बेटी बांग्लादेश में डॉक्टरी की पढ़ाई कर रही है जबकि बेटा कश्मीर के बर्न हॉल स्कूल में पढ़ रहा है।

घर पर भी ले गया था आतंकियों को : जम्मू कश्मीर पुलिस की कड़ी पूछताछ में देवेंद्रने बताया कि कार में रवाना होने के पहले वह आतंकवादियों को अपने किराए वाले घर पर भी ले गया था। पुलिस ने इस पूरे मामले की जानकारी गृह मंत्रालय को दे दी है। देवेंद्र
के साथ गिरफ्तार आतंकियों में लश्कर का शोपियां जिला कमांडर सईद नवीद मुश्ताक उर्फ नवीद बाबू तथा हिज्‍बुल का अल्ताफ आसिफ डार शामिल हैं। नवीद ए प्लस कैटेगरी का आतंकी है। शोपियां के नाजीपोरा निवासी नवीद 2 मई, 2014 से संगठन में सक्रिय है।

विज्ञापन
Traveling to UK? Check MOT of car before you buy or Lease with checkmot.com®
 

और भी पढ़ें :