नवाब मलिक ने फोड़ा हाइड्रोजन बम, कहा- नोटबंदी के बाद फडणवीस ने खेला जाली नोट का खेल

पुनः संशोधित बुधवार, 10 नवंबर 2021 (10:22 IST)
हमें फॉलो करें
मुंबई। महाराष्‍ट्र सरकार के मंत्री ने बुधवार को पर पलटवार करते हुए कहा कि के लोगों ने उन्हें महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनवाया था। उन्होंने कहा कि हजारों करोड़ की उगाही में फडणवीस शामिल है।

मलिक ने कहा कि फडणवीस ने भ्रष्ट लोगों को महाराष्‍ट्र में सरकारी बोर्डों का अध्यक्ष बनाया। मुन्ना यादव को कंस्ट्रक्शन बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया। हैदर आजम को एक कार्पोरेशन का अध्यक्ष बनाया गया। उन्होंने कहा कि हैदर आजम बांग्लादेशियों को मुंबई में बसाता है।

उन्होंने कहा कि नोटबंदी के बाद महाराष्‍ट्र में का खेल खेला गया। नोटबंदी के 1 साल बाद तक महाराष्‍ट्र में नकली नोट नहीं पकड़े गए। पूरे देश में जाली नोट के खेल को फैलाया गया। 8 अक्टूबर को 14 करोड़ के 56 लाख नोट पकड़े गए। 8 लाख 80 हजार का मामला बताकर घपला किया गया।
राकांपा नेता ने कहा कि जाली नोट का रैकेट बांग्लादेश से दाउद तक फैला है। जाली नोट के मामले NIA क्यों नहीं दिए गए? उन्होंने कहा कि रियाज भाटी फडणवीस के कार्यक्रम में शामिल रहता था। फडणवीस से सवाल किया कि रियाज भाटी कौन हैं? जाली पासपोर्ट मामले में रियाज भाटी को क्यों छोड़ा गया?

उन्होंने कहा कि एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े को बचाने की कोशिश हो रही है। वानखेड़े से भाजपा नेता फडणवीस के करीबी संबंध है इसलिए वे केस को घुमा रहे हैं।



और भी पढ़ें :