1. खबर-संसार
  2. समाचार
  3. राष्ट्रीय
  4. yogi adityanath
Written By
पुनः संशोधित सोमवार, 20 मार्च 2017 (09:01 IST)

मोदी की राह पर चले योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 'सबका साथ सबका विकास' के नारे के साथ ही अपने मंत्र‍िमंडल सहयोगियों को निर्देश दिया कि वे पंद्रह दिन के भीतर अपनी आय और चल-अचल संपत्ति का पूरा ब्योरा पार्टी एवं सरकार को उपलब्ध कराएं।
योगी ने अपने कैबिनेट की पहली बैठक ली। बैठक के बाद कैबिनेट मंत्री श्रीकांत शर्मा और सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 'भ्रष्टाचार' को समाप्त करने के संकल्प के तहत मुख्यमंत्री ने सभी मंत्रियों को अपनी आय और चल अचल संपत्ति का ब्योरा उपलब्ध कराने को कहा है। दोनों मंत्रियों ने बताया कि नए विधायकों के प्रशिक्षण के लिए कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना के नेतृत्व में एक कमेटी बनेगी, जिसमें प्रयास होगा कि सभी विधायकों की भलीभांति 'ट्रेनिंग' हो। केंद्र के भी कुछ बड़े नेता आ सकते हैं। वे कक्षाएं लेंगे।' 
 
शर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री ने सभी कैबिनेट सदस्यों से आग्रह किया कि 'जनादेश' विकास के लिए मिला है। ये जनादेश बिजली, पानी, सड़क, कानून व्यवस्था, शिक्षा, स्वास्थ्य और किसान की बदहाली दूर करने तथा विकास और सुरक्षा के लिए मिला है। साथ ही मुख्यमंत्री योगी ने मंत्रिपरिषद के सहयोगियों को नसीहत दी कि वे अनावश्यक टिप्पणी से बचें ताकि किसी की भावना आहत न हो। उत्तर प्रदेश 'उत्तम प्रदेश' बने, यही हम सबका संकल्प है।
 
योगी आदित्यनाथ ने सीएम बनने के बाद अपनी पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि मैं सबसे पहले उत्तर प्रदेश की जनता को नमन करता हूं। हमने चुनाव में जनता से जो भी वादे किए हैं, उन्हें हमारी सरकार पूरा करने के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार समाज के सभी वर्गो के लिए बिना भेदभाव के काम करेगी, इसका रोड मैप तैयार किया जाएगा। हम सबका साथ सबका विकास का अनुकरण करेंगे। योगी ने कहा कि हमने लोक कल्याण संकल्प पत्र में जो वादे किए हैं, उन्हें पूरा करने के लिए कृतसंकल्प हैं।
ये भी पढ़ें
योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री आवास में प्रवेश से पूर्व आवास का शुद्धिकरण