श्रीनगर की इस ‘अथॉरिटी’ का नाम सुनकर हंस-हंस के लोटपोट हुए लोग, अभि‍षेक मनु सिंघवी ने कहा, ‘बदलो नाम’

Lakes
पुनः संशोधित गुरुवार, 30 सितम्बर 2021 (14:47 IST)
श्रीनगर की बेहद खूबसूरत डल झील कौन नहीं देखना चाहता है। यहां देश और विदेश से पर्यटक घूमने आते हैं और डल झील में शि‍कारा की सवारी करते हैं। हालांकि पिछले दो साल से जम्‍मू कश्‍मीर के श्रीनगर में इन खूबसूरत झीलों में कोरोना महामारी की वजह से सन्‍नाटा पसरा पडा था।

इसी वजह से झील में कचरा और गंदगी पसर गई है। लेकिन अब एक बार फि‍र से नागरिक डल झील के खूबसूरत नजारे का लुत्‍फ उठा सकेंगे।

दरअसल, जम्‍मू और कश्‍मीर के लेक एंड वॉटरवेज डवलेपमेंट अथॉरिटी यानि एलएडब्‍लूडीए (LAWDA) ने करीब दो साल बाद श्रीनगर की डल झील की सफाई के लिए अभि‍यान शुरू कर दिया है। इसमें श्रीनगर की और भी झीलें शामिल हैं, जिनकी सफाई की जाएगी और नागरिकों को आकर्षित किया जाएगा।

झीलों और जलमार्ग विकास प्राधिकरण (LAWDA) ने 30 सितंबर से श्रीनगर की झीलों की सफाई का काम शुरू कर दिया है। इस अभि‍यान को लेकर ट्व‍िटर पर बकायदा (LAWDA) नाम से ट्रेंड चल रहा है।

दिलचस्‍प बात यह है कि जम्‍मू कश्‍मीर की इस अथॉरिटी के नाम को लेकर सोशल मीडि‍या में कई तरह के मीम्‍स बनाए जा रहे हैं।

हालांकि कांग्रेस के नेता अभि‍षेक मनु सिंघवी ने इस अथॉरिटी का नाम बदलने के लिए श्रीनगर प्रशासन से चर्चा की है। उन्‍होंने ट्वीट कर के कहा है कि
हालांकि मैं किसी का नाम बदलने के पक्ष में नहीं रहता हूं, लेकिन मैं जम्मू-कश्मीर के अधिकारियों से झील और जलमार्ग विकास प्राधिकरण नाम की इस अथॉरिटी का नाम का बदलने या थोड़ा संशोधित करने का अनुरोध करता हूं


अब सोशल मीडि‍या पर चाहे जो भी मीम्‍स चल रहे हो, लेकिन श्रीनगर की इस अथॉरिटी की तारीफ हो रही है कि खूबसूरत श्रीनगर की बेहद खूबसूरत झीलों को एक‍ बार फि‍र से आकर्षक बनाने के लिए (LAWDA) ने कमर कस ली है।






नोट:
श्रीनगर की अथॉरिटी के इस नाम को लेकर सोशल मीडि‍या में कई तरह से फनी मीम्‍स चल रहे हैं, लेकिन वेबदुनिया का मकसद सिर्फ श्रीनगर की डल झील की सफाई को लेकर अथॉरिटी के अभि‍यान की खबर को दिखाना है।



और भी पढ़ें :