LoC पर भीषण गोलीबारी, कई पाक बंकर तबाह, 1 सैनिक ढेर

जम्मू। भारतीय सेना ने एलओसी पर पाक सेना की अकारण गोलाबारी का जवाब देते हुए एक पाक सैनिक को मार गिराया है। कुछ पाक बंकरों को तबाह करने का भी दावा किया है। फिलहाल एलओसी पर पाक गोलाबारी के कारण दहशत का माहौल बना हुआ था।
पाकिस्तान ने एक बार फिर अपनी नापाक हरकतों को दोहराते हुए जिला पुंछ के डिग्वार सेक्टर में भारतीय चौकियों को निशाना बनाते हुए गोलाबारी की। पाकिस्तानी सैनिकों ने पहले तो हल्के हथियारों का इस्तेमाल किया परंतु बाद में उन्होंने मोर्टार भी दागे। पाकिस्तान गोलाबारी की आड़ में घुसपैठ करवाने के प्रयास है लेकिन सतर्क भारतीय सुरक्षा बल पाकिस्तान के नापाक इरादों को विफल बना रहे हैं। पाकिस्तान भारतीय क्षेत्र के रिहायशी इलाकों को निशाना बनाकर गोलाबारी कर रहा है।

सूत्रों के अनुसार गुरुवार सुबह 6.45 बजे डिग्वार सेक्टर में पाकिस्तानी सैनिकों ने अचानक गोलाबारी शुरू कर दी थी। चौकियों पर तैनात भारतीय जवान भी मुश्तैदी बनाए हुए थे। गोलाबारी का जवाब फौरन दिया गया। बताया जा रहा है कि भारतीय जवानों की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान का एक जवान मारा गया।

दोपहर बाद से पाकिस्तानी सैनिकों ने गोलाबारी करना बंद कर दिया। तब से एलओसी पर सन्नाटा छाया हुआ है। हालांकि अभी तक किसी भी सैन्य अधिकारी ने पाकिस्तानी सैनिक के मारे जाने की पुष्टि नहीं की है।

भारतीय जवान पूरी मुश्तैदी के साथ तैनात हैं। जिला पुंछ के बालाकोट, केरनी, डिग्गवार और जिला राजौरी के शाहपुर सेक्टर में आए दिन पाकिस्तानी सैनिक चौकियों व रिहायशी इलाकों को निशाना बनाकर गोलाबारी करते रहते हैं।

नियंत्रण रेखा पर बने अशांति माहौल को देखते हुए प्रशासन रिहायशी इलाकों में पड़ने वाले सरकारी स्कूलों को भी कई-कई दिनों तक बंद रखता है ताकि आम लोगों को नुकसान न पहुंचे। इससे पहले पाकिस्तान ने एलओसी और आईबी पर रविवार को भी सीजफायर का उल्लंघन किया था। पुंछ जिले के डिग्वार, करमाड़ा और राजौरी जिले के नौशहरा सेक्टर में सेना की चौकियों के साथ ही रिहायशी इलाकों को निशाना बनाकर गोलाबारी की।

वहीं, कठुआ जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा पर मनियारी और सतपाल चौकियों पर गोलीबारी की गई। यहां पाकिस्तान ने शाम 7 से रात 9.30 बजे तक गोलाबारी की। बीएसएफ की मनियारी और सतपाल चौकियों के बीच बांध का निर्माण किया जा रहा है, जिससे बौखलाए पाकिस्तानी रेंजर फायरिंग कर रहे हैं।

 

और भी पढ़ें :