गुरुवार, 18 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. Events related to Ayodhya Ram temple
Last Modified: नई दिल्ली , सोमवार, 22 जनवरी 2024 (16:42 IST)

Ayodhya Ram Mandir : अयोध्‍या राम मंदिर से जुड़ा घटनाक्रम

Ayodhya Ram Mandir : अयोध्‍या राम मंदिर से जुड़ा घटनाक्रम - Events related to Ayodhya Ram temple
Events related to Ayodhya Ram temple : अयोध्या के राम मंदिर में सोमवार को रामलला की नई मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा की गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाले इस कार्यक्रम को देश-विदेश के लाखों लोगों ने अपने घरों और मंदिरों में टेलीविजन पर देखा। अयोध्या राम मंदिर मुद्दे का घटनाक्रम इस प्रकार है :
  • वर्ष 1528 : मुगल बादशाह बाबर के सेनापति मीर बकी द्वारा बाबरी मस्जिद का निर्माण कराया गया।
  • वर्ष 1885 : महंत रघुवर दास ने फैजाबाद जिला अदालत में याचिका दायर कर विवादित ढांचे के बाहर एक चबूतरा बनाने की अनुमति मांगी। अदालत ने याचिका खारिज कर दी।
  • वर्ष 1949 : विवादित ढांचे के बाहर मध्य गुंबद के नीचे रामलला की मूर्ति रखी गई।
  • एक फरवरी, 1986 : स्थानीय अदालत ने सरकार को हिंदू भक्तों के लिए स्थल खोलने का आदेश दिया।
  • 14 अगस्त, 1989 : इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने विवादित ढांचे के संबंध में यथास्थिति बनाए रखने का आदेश दिया।
  • 6 दिसंबर, 1992 : 16वीं सदी की बाबरी मस्जिद, जिसके बारे में कई हिंदुओं का मानना है कि भगवान राम के जन्मस्थान स्थल पर बनाई गई थी, को ‘कार सेवकों’ ने ध्वस्त कर दिया।
  • 3 अप्रैल, 1993 : केंद्र द्वारा विवादित क्षेत्र में भूमि अधिग्रहण के लिए ‘अयोध्या में निश्चित क्षेत्र का अधिग्रहण अधिनियम’ पारित किया गया।
  • अप्रैल 2002 : विवादित स्थल के मालिकाना हक का निर्धारण करने के लिए इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने सुनवाई शुरू की।
  • 30 सितंबर, 2010 : उच्च न्यायालय ने 2:1 के बहुमत से विवादित क्षेत्र को सुन्नी वक्फ बोर्ड, निर्मोही अखाड़ा और राम लला के बीच 3 हिस्सों में बांटने का फैसला सुनाया।
  • 9 मई, 2011 : उच्चतम न्यायालय ने अयोध्या भूमि विवाद पर उच्च न्यायालय के फैसले पर रोक लगाई।
  • जनवरी 2019 : उच्चतम न्यायालय ने मामले की सुनवाई के लिए 5 न्यायाधीशों की संविधान पीठ का गठन किया।
  • 6 अगस्त, 2019 : उच्चतम न्यायालय ने भूमि विवाद पर रोजाना सुनवाई शुरू की।
  • 16 अक्टूबर, 2019 : उच्चतम न्यायालय ने सुनवाई पूरी की, आदेश सुरक्षित रखा।
  • 9 नवंबर, 2019 : एक ऐतिहासिक फैसले में उच्चतम न्यायालय ने अयोध्या में पूरी 2.77 एकड़ विवादित जमीन रामलला को दे दी, जमीन का कब्जा केंद्र सरकार के रिसीवर को सौंपा। शीर्ष अदालत ने केंद्र और उत्तर प्रदेश सरकार को मस्जिद बनाने के लिए मुसलमानों को किसी प्रमुख स्थान पर 5 एकड़ जमीन आवंटित करने का भी निर्देश दिया।
  • 5 फरवरी, 2020 : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट के गठन की घोषणा की।
  • 5 अगस्त, 2020 : प्रधानमंत्री मोदी ने राम मंदिर की नींव रखी।
(भाषा) Edited By : Chetan Gour 
ये भी पढ़ें
Ayodhya : राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के दौरान करीब 50 वाद्ययंत्रों से निकली 'मंगल ध्वनि'