शनिवार, 20 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. After Nitish Kumar, Jayant Chaudhary next to join NDA
Last Updated : गुरुवार, 8 फ़रवरी 2024 (16:57 IST)

राहुल गांधी की UP इंट्री से पहले BJP दे सकती है एक और बड़ा झटका, NDA में शामिल हो सकते हैं जयंत चौधरी

बिखर रहा है I.N.D.I.A गठबंधन

rahul gandhi
बिखरा I.N.D.I.A गठबंधन
भाजपा-जयंत में चल रही है बात
लोकसभा की 4 सीटों पर अड़े चौधरी
 
 
I.N.D.I.A Bloc News : यूपी में राष्ट्रीय लोकदल नेता जयंत चौधरी की भाजपा से बढ़ती नज‍दीकियों के बीच कहा जा रहा है कि भाजपा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की भारत जोड़ो न्याय यात्रा (Bharat Jodo Nyay Yatra) के यूपी प्रवेश से पहले इंडिया गठबंधन को बड़ा झटका दे सकती है।
भारत जोड़ो न्याय यात्रा 14 फरवरी को चंदौली से प्रदेश की सीमा में प्रवेश प्रस्तावित है। यात्रा 11 दिनों में 20 जिलों का सफर तय करते हुए 25 फरवरी (संभावित तिथि) को आगरा से होते हुए राजस्थान जाएगी।
 
दरअसल, जाट बहुल पश्चिमी उत्तर प्रदेश में प्रभाव रखने वाले जयंत चौधरी से इन दिनों भाजपा की बात चल रही है। हालांकि अभी डील पक्की नहीं हुई है, लेकिन कहा जा रहा है कि दोनों के बीच जल्द ही समझौता हो सकता है।
 
भाजपा आरएलडी को 2 लोकसभा सीटें और 1 राज्यसभा सीटें देने को तैयार हैं, लेकिन जयंत लोकसभा की 4 सीटों पर चुनाव लड़ने पर अड़े हुए हैं। यूपी में 80 सीटें जीतने की कोशिशों में जुटी भाजपा के लिए पश्चिमी उत्तर प्रदेश में छोटे चौधरी यानी जयंत काफी काम के साबित हो सकते हैं। 
 
दूसरी ओर, समाजवादी पार्टी जयंत को 7 सीटें देने को राजी है, लेकिन दोनों के बीच समझौते को अंतिम रूप नहीं मिल पाया है। फिलहाल जयंत के दोनों हाथों में लड्‍डू हैं। वे इंडिया का हिस्सा भी बन सकते हैं और दांव चला तो एनडीएम के पाले में भी जा सकते हैं। 
 
क्या कहा स्वामी प्रसाद मौर्य ने : जयंत चौधरी के NDA में शामिल होने की चर्चा पर समाजवादी पार्टी के नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि किसी को अगर झूठ बोलना है तो उसे भाजपा से सीखना चाहिए। भाजपा झूठ बोलने में माहिर है। जयंत चौधरी और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के बीच समय-समय पर वार्ता होती रहती है और सीटों के बंटवारे पर बात भी हुई है।  
वहीं, राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा को लगातार झटके पर झटके मिलते जा रहे हैं। जब यात्रा ने बिहार में प्रवेश किया तो नीतीश कुमार इंडिया गठबंधन का साथ छोड़कर एनडीए में शामिल हो गए। पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी ने भी गठबंधन से दूरी बनाते हुए बंगाल में अकेले चुनाव लड़ने का फैसला कर लिया है।
 
ममता ने कई बार कांग्रेस पर निशाना भी साधा है। उन्होंने यहां तक कहा कि कांग्रेस लोकसभा चुनाव में 40 सीटें जीत जाए तो बड़ी बात होगी। बात प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी इसी बात को दोहराया। झारखंड में भी राहुल गांधी की यात्रा के प्रवेश से पहले राजनीतिक उथल-पुथल मच गई थी। हालांकि सोरेन की गिरफ्तारी के बाद भी झारखंड में झामुमो कांग्रेस की सरकार बच गई।
 
कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी की अगुवाई में निकाली जा रही 'भारत जोड़ो न्‍याय यात्रा' आगामी 19 फरवरी को उनके पूर्व संसदीय निर्वाचन क्षेत्र अमेठी पहुंचेगी। कांग्रेस इसके लिए व्यापक स्तर पर तैयारियां कर रही है। हालांकि 2019 में राहुल गांधी इस सीट पर भाजपा की स्मृति ईरानी से चुनाव हार गए थे।

बयान देने से परहेज : रालोद के राष्ट्रीय प्रवक्ता भूपेंद्र चौधरी ने सोशल मीडिया फ्लेटफॉर्म एक्स पर लिखा कि पार्टी का हर कार्यकर्ता चौधरी जयंत सिंह जी के निर्णय के साथ है, दल की गरिमा को बनाए रखने के लिए रालोद का कोई भी नेता अगली सूचना आने तक किसी भी तरह का कोई बयान मीडिया में ना दे ना ही किसी डिबेट में जाए अन्यथा वह पार्टी का अधिकारिक बयान नहीं, उनका व्यक्तिगत बयान ही माना जाएगा।
ये भी पढ़ें
Paytm पर क्यों हुई RBI की कार्रवाई, गवर्नर शक्तिकांत दास ने बताया कारण