मध्यप्रदेश में शिवराज ने बाजी हारी, दिल जीत गए...

भोपाल| Last Updated: बुधवार, 12 दिसंबर 2018 (18:14 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश में 13 साल 13 दिन तक सफलतापूर्वक शासन चलाकर विकास की गंगा बहाने वाले को भले ही तीसरे कार्यकाल के लिए पूर्ण बहुमत नहीं मिल पाया हो लेकिन उन्होंने अब तक के सबसे सफलतम मुख्यमंत्री के रूप में जरूर अपनी पहचान स्थापित की। वे इस चुनाव में सरकार बनाने की बाजी भले ही हार गए हों लेकिन वे 'दिल' जीतने में सफल रहे।

'शिवराज का काम बोलता है', ये जुमला प्रदेश की जनता का हमेशा याद रहेगा। सड़क, पानी, बिजली के मामले में प्रदेश को विकास पथ पर तेजी से डाल चुके शिवराज जनता की पहली पसंद बने। प्रदेश की जनता का यह भी कहना है कि इस चुनाव के जरिए 'प्रदेश के मामा' लोगों के दिलों में हमेशा बसे रहेंगे।

शिवराज कितने लोकप्रिय नेता बन गए हैं, इसकी एक बानगी सोशल मीडिया के जरिए पता चलती है। उनके आधिकारिक टिवट्‍र अकाउंट पर जो प्रतिक्रियाएं मिल रहीं हैं, उससे साबित होता है कि लोग उन्हें कितना पसंद करते हैं।

सोशल मीडिया पर शिवराज के लिए कमेंट्‍स...

कुणाल सिंह ने कहा, बस कीजिये मामा अब रुलाइयेंगे क्या।

किरार अजय सिंह ने भी ट्वीट कर शिवराज की हार पर अफसोस जाहिर किया। उन्होंने कहा कि सर मैं बता नहीं सकता कि मुझे और मेरे परिवार को कितना बुरा लग रहा है। सर बस 5 साल हम आपको बहुत मिस करेंगे। उसके बार मध्यप्रदेश में फिर शिवराज होगा।

अरविंद कुमार हावा ने ट्वीट किया, नो टेंशन सर जी जनता भुगत लेगी जो गलती जनता ने की, वो पांच साल में भुगत लेगी।

अभिलाष सिंह ने ट्वीट किया, 'बहुत दु:खी हूं मैं मामाजी आपके जैसा CM अब दोबारा नहीं मिलेगा...लेकिन उनके जीतने से ज्यादा चर्चा आपके हारने की है, इसे कहते है जमीनी नेता।'

जीगर भगोरा ने ट्वीट किया, सर आप एक अच्छे नेता हो और रहोगे। आप नहीं हारे। आपकी पार्टी ने आपको हराया है, आप लोगों के दिल में सच्चे नेता हो और रहोगे।



और भी पढ़ें :