मकर संक्रांति : 12 राशि के 12 सूर्य मंत्र, 12 दान और 12 उपाय

Sankranti 2022
 
मकर संक्रांति (sankranti) पर सूर्यदेव की आराधना करने महत्व है, क्योंकि इसी दिन मकर राशि में प्रवेश करते है तथा उत्तरायन हो जाते हैं। इन दोनों के कारण ही इसे मकर संक्रांति कहा जाता है। हिंदू धर्म (Hindu Dharma) में यह दिन सबसे अधिक महत्वपूर्ण माना जाता है।

इस दिन सूर्यदेव के साथ ही अपने इष्ट देव की आराधना करना बहुत ही शुभ फलदायी माना जाता है। धार्मिक मान्यतानुसार मकर संक्रांति (2022) के दिन पूजा-पाठ और दान करने का विशेष महत्व शास्त्रों में वर्णित है। यहां पढ़ें राशिनुसार (Makar sankranti Rashinusar Mantra) मंत्र जाप, दान (Daan) सामग्री तथा आसान उपाय (Upay)-

पढ़ें 12 राशि के 12 सूर्य मंत्र-Makar Sankranti Surya Mantra

- मेष- ॐ अचिंत्याय नम:
- वृषभ- ॐ अरुणाय नम:
- मिथुन- ॐ आदि-भुताय नम:
- कर्क- ॐ वसुप्रदाय नम:
- सिंह- ॐ भानवे नम:
- कन्या- ॐ शांताय नम:
- तुला- ॐ इन्द्राय नम:
- वृश्चिक- ॐ आदित्याय नम:
- धनु- ॐ शर्वाय नम:
- मकर- ॐ सहस्र किरणाय नम:
- कुंभ- ॐ ब्रह्मणे दिवाकर नम;
- मीन- ॐ जयिने नम:।


- मेष- तांबा की वस्तु, दही या तिल-गुड़ का दान दें।
- वृष- चांदी, तिल का दान करें।
- मिथुन- पीला वस्त्र, गुड़ गरीबों को दें।
- कर्क- सफेद ऊन, तिल का दान करें।
- सिंह- गुड़, गेहूं का दान करें।
- कन्या- हरा मूंग और तिल का दान लाभदायी रहेगा।
- तुला- गुड़ और 7 प्रकार के अनाज का दान करें।
- वृश्चिक- लाल वस्त्र, दही का दान।
- धनु- पीले वस्त्र, गुड़ का दान करें।
- मकर- कंबल, गुड़ का दान अति‍उत्त्म रहेगा।
- कुंभ- कंबल, घी का दान करें।
- मीन- चना दाल, तिल करना फलदायी रहेगा।

मकर संक्रांति के राशिनुसार उपाय-Makar Sankranti Remedies


1. मेष- पीले पुष्प, हल्दी और तिल, जल में मिलाकर सूर्य को अर्घ्य दें। कार्यक्षेत्र में उच्च पद की प्राप्ति होगी।

2. वृषभ- सफेद चंदन, दूध, सफेद पुष्प और तिल जल में डालकर सूर्य को अर्घ्य दें। कार्यक्षेत्र में बड़ी जवाबदारी मिलेगी तथा महत्वपूर्ण योजनाएं प्रारंभ होगी।

3. मिथुन- जल में तिल, दूर्वा तथा पुष्प मिलाकर सूर्य को अर्घ्य दें। साथ ही गाय को चारा खिलाएं। सुख और ऐश्वर्य की प्राप्ति होगी।

4. कर्क- जल में दूध, चावल, तिल मिलाकर सूर्य को अर्घ्य दें। गृह कलह, संघर्ष, व्यवधान में कमी आएगी।

5. सिंह- जल में कुमकुम या लाल पुष्प तथा तिल डालकर सूर्य को अर्घ्य दें। कार्यस्थल पर बड़ी उपलब्धि प्राप्त होगी।

6. कन्या- तिल, दूर्वा, पुष्प जल में डालकर सूर्य को अर्घ्य दें। शुभ समाचार मिलेंगे।

7. तुला- सफेद चंदन, दूध, चावल, तिल मिलाकर सूर्य को अर्घ्य दें। बाहरी संबंधों से व्यवसाय में लाभ होगा।

8. वृश्चिक- कुमकुम, लाल पुष्प तथा तिल जल में मिलाकर सूर्य को अर्घ्य दें। विदेश यात्रा के योग तथा विदेशी कार्यों से लाभ मिलेगा।

9. धनु- हल्दी, केसर, पीले पुष्प जल में डालकर सूर्य को अर्घ्य दें। हर क्षेत्र में विजय प्राप्त होगी।

10. मकर- काले-नीले पुष्प, तिल जल में मिलाकर सूर्य को अर्घ्य दें। गरीबों को भोजन कराएं। अधिकार प्राप्त होंगे।

11. कुंभ- काले उड़द, सरसों का तेल, जल में नीले-काले पुष्प औार तिल मिलाकर सूर्य को अर्घ्य दें। विरोधी दूर होंगे, भेंट मिलेगी।

12. मीन- सूर्यदेव को अर्घ्य देने से पहले हल्दी, केसर, पीले पुष्प और तिल मिलाकर एकत्रित कर लें, फिर सूर्यदेव को अर्घ्य चढ़ाएं। घर-परिवार, समाज में सम्मान मिलेगा तथा यश बढ़ेगा।

Sun Worship




और भी पढ़ें :