मध्यप्रदेश में बारिश का कहर, उफान पर नदियां, सड़कों पर पानी, लोग परेशान

भोपाल| वेबदुनिया न्यूज डेस्क| पुनः संशोधित शुक्रवार, 16 अगस्त 2019 (12:20 IST)
भोपाल। की राजधानी भोपाल समेत पूरे मध्यप्रदेश में इन दिनों हो रही है। लगातार हो रही बारिश की वजह से नदियां उफान पर है और सड़कों पर भरा हुआ है। लगातार बारिश के चलते लगभग सभी छोटे-बड़े बांधों के गेट लगातार खोले जा रहे हैं। कई शहरों का एक-दूसरे से संपर्क पूरी तरह कट गया है।
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भारी वर्षा के दौरान किसी भी प्रकार की जान-माल की हानि रोकने के लिए शासन-प्रशासन को चौकस रहने और राहत और बचाव के सभी उपाय करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने लोगों से भी विशेष सावधानी बरतने की अपील की है।

पार्वती और चम्बल नदियां खतरे के निशान के ऊपर : श्योपुर जिले में चम्बल तथा पार्वती नदियां खतरे के निशान से ऊपर बहने से श्योपुर का राजस्थान के कोटा, बारां सहित जयपुर को जोडऩे वाले तीनों मार्गों पर यातायात बंद हो गया है। नदी किनारे के कई गांवों में बाढ़ का पानी घुस गया है। इसके चलते प्रशासन ने मुरैना और भिंड जिले में अलर्ट जारी किया है।
बरगी पर खोले गेट : जबलपुर जिले स्थित बरगी बांध के पंद्रह गेट खोले जाने के चलते रायसेन जिले के बरेली के समीप बारना नदी के पुल पर बैक वाटर आ गया जिसके चलते रायसेन का जबलपुर और भोपाल से सड़क संपर्क टूट गया।

3 दिन से बंद हैं विदिशा-रायसेन राजमार्ग : विदिशा- रायसेन राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 146 तीन दिन से बंद है। यहां बेतवा के पगनेश्वर पुल पर 10 फिट पानी है। इस वजह से लगभग 100 गांवों का संपर्क टूट गया है।
ट्रेनों पर भी पड़ा असर : सागर जिले के बीना में रेल ट्रैक पर पानी भर जाने से दिल्ली-मुंबई मार्ग पर कल ट्रेनें कुछ देर तक प्रभावित रहीं। भारी बारिश की वजह से गुना जिले के गोपीकृष्ण सागर बांध के भी गेट खोल दिए गए। इस वजह से बांध के आसपास के गांवों में लोगों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।


 

और भी पढ़ें :