सिंधिया‌ ने भोपाल में शिवराज की तारीफ में पढ़ें कसीदे,नरोत्तम से बनाई दूरी,वीडी के साथ लंच डिप्लोमेसी ने नए सियासी समीकरण के दिए संकेत

Author विकास सिंह| Last Updated: बुधवार, 9 जून 2021 (21:18 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश में सियासी मेल-मुलाकातों से चढ़े सियासी पारे को ज्योतिरादित्य सिंधिया के दौरे ने और बढ़ा दिया है। कोरोना के चलते काफी लंबे अंतराल के बाद राजधानी आए सिंधिया अपने एक दिन के प्रवास के दौरान लंच से लेकर डिनर पॉलिटिक्स करते नजर आए। सिंधिया की संगठन और सरकार के दिग्गजों से मुलाकातों ने प्रदेश में सौजन्य सियासी मुलाकातों से गर्माए सियासी पारा को और गर्मा दिया।

वीडी संग लंच डिप्लोमेसी- बुधवार दोपहर बाद एयरपोर्ट पहुंचे सिंधिया का उनके समर्थकों ने जोरदार स्वागत किया। एयरपोर्ट से सीधे सिंधिया प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा के बंगले पहुंचे जहां उनकी मुलाकात संगठन मंत्री सुहास भगत और सह संगठन मंत्री हितानंद के साथ हुई। यहां पर वीडी शर्मा और सिंधिया की बंद कमरे में काफी देर बातचीत हुई। इसके बाद सिंधिया ने वीडी शर्मा और सुहास भगत के साथ लंच किया। सिंधिया की वीडी शर्मा की गर्मजोशी से‌ मुलाकात और लंच की तस्वीरों ने सियासी पारे को और गर्माने के साथ प्रदेश की राजनीति में नए सियासी समीकरण के संकेत भी दे दिए।
शिवराज की तारीफ में पढ़ें कसीदे- वीडी शर्मा से मिलने के बाद सिंधिया मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मिलने के लिए सीएम हाउस पहुंचे। भोपाल दौरे के दौरान सिंधिया से जब मीडिया ने प्रदेश में सत्ता परिवर्तन की अटकलों को लेकर सवाल किया तो सिंधिया‌ ने खुलकर मुख्यमंत्री शिवराज ‌सिंह चौहान की तारीफ में जमकर कसीदे पढ़े। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में कोरोना के खिलाफ लड़ाई में प्रदेश का नेतृत्व किया।
इसके बाद देर शाम सिंधिया संघ कार्यालय समिधा पहुंचे और संघ नेताओं से मुलाकात की। इसके साथ सिंधिया कैबिनेट मंत्री भूपेंद्र सिंह के घर चाय पीने पहुंचे और देर रात बुंदेलखंड से आने वाले वरिष्ठ मंत्री गोपाल भार्गव के बंगले पर डिनर किया।
गृहमंत्री नरोत्तम से दूरी चर्चा के केंद्र में- भोपाल दौरे के दौरान सिंधिया का पिछले कई दिनों से सियासी मुलाकातों के चलते चर्चा के केंद्र में रहे गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा से मुलाकात न करना सियासी गलियारों में चर्चा विषय बन गया है। सीएम
शिवराज,
भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा, संगठन महामंत्री सुहास भगत, कैबिनेट मंत्री गोपाल भार्गव और भूपेंद्र सिंह से सिंधिया का मिलना और नरोत्तम से नहीं मिलने ने फिर एक नई सियासी चर्चा को जन्म दे दिया। राजधानी में सिंधिया‌ का काफिला भाजपा दफ्तर से लेकर सीएम हाउस तक दौड़ता रहा वहीं गृहमंत्री पूरे दिन अपने बंगले पर ही मौजूद रहे। वहीं देर रात नरोत्तम मिश्रा के दिल्ली जाने की खबरों ने फिर नई सियासी अटकलों को जन्म दे दिया है।



और भी पढ़ें :