मंगलवार, 16 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. चुनाव 2023
  2. विधानसभा चुनाव 2023
  3. मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2023
  4. Sadhvi Pragya Thakur blames Congress for staying away from election campaign in Madhya Pradesh
Written By Author विकास सिंह
Last Modified: शुक्रवार, 1 दिसंबर 2023 (18:39 IST)

मध्यप्रदेश में चुनाव प्रचार से दूर रहने के लिए साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने कांग्रेस को ठहराया जिम्मेदार

मध्यप्रदेश में चुनाव प्रचार से दूर रहने के लिए साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने कांग्रेस को ठहराया जिम्मेदार - Sadhvi Pragya Thakur blames Congress for staying away from election campaign in Madhya Pradesh
भोपाल। 3 दिसंबर को चुनाव परिणाम आने से पहले मध्यप्रदेश को लेकर एग्जिट पोल्स में राज्य में पांचवी बार भाजपा सरकार बनते हुए दिखाई दे रही है। एग्जिट पोल के पूर्वानुमान से जहां भाजपा गदगद है वहीं विपक्षी दल कांग्रेस के नेता सतर्क हो गए है।

अपने बयानों के चलते अक्सर सुर्खियों में रहने वाली भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने एग्जिट पोल को लेकर बड़ा बयान दिया है। साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने मीडिया से बातचीत में दावा किया कि  राज्य में भाजपा की सरकार बनने जा रही है। जनता ने विकास के मुद्दें पर भाजपा का वोट किया है और पार्टी 150 से अधिक सीटें जीतेगी। हलांकि भाजपा के सत्ता में आने पर क्या शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री होंगे, इस पर भाजपा सांसद ने कहा कि इस फैसला पार्टी हाईकमान करेगा।

कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस कभी भी आसानी से नहीं जीत सकती, उनकी साजिशें काम नहीं कर रही हैं। भाजपा धर्ममय है, धर्म को मानने से इनकार करने वाले विधर्मी है। वहीं विधानसभा चुनाव में चुनाव प्रचार से दूर रहने का ठीकरा भी भाजपा सांसद ने कांग्रेस के सिर फोड़ दिया। साध्वी प्रज्ञा ने कहा कि वह मालेगांव केस की सुनवाई के सिलसिले में मुंबई में थी। चूंकि केस की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में चल रही है और इसलिए हर दिन उन्हें कोर्ट में मौजूद रहना होता है। प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि कांग्रेस ने पहले मालेगांव का जबरदस्ती झूठा केस लगाकर मुझे प्रताड़ित करते 9 सालों तक जेल में रखा और अब कांग्रेस उनके भोपाल में न होने का मुद्दा बनाकर षडयंत्र कर कोर्ट में गड़बड़ी कराने की कोशिश में थी।

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने कहा कि पार्टी संगठन को उनके मालेगांव केस के सिलसिले में मुंबई में होने की जानकारी थी और भोपाल की जनता को भी मालूम है वह कौन सा संघर्ष कर रही है। उन्हें भोपाल और प्रदेश की जनता और पार्टी कार्यकर्ताओं पर पूरा भरोसा था और अब भाजपा मध्यप्रदेश में बड़ी जीत हासिल करने जा रही है।  
 
ये भी पढ़ें
मिजोरम में विधानसभा चुनाव की मतगणना अब 4 दिसंबर को