सोमवार, 22 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. चुनाव 2024
  2. लोकसभा चुनाव 2024
  3. लोकसभा चुनाव समाचार
  4. Will NDA win 400 seats in loksabha election, what bjp candidates of delhi says
Last Modified: रविवार, 3 मार्च 2024 (09:50 IST)

क्या NDA पार करेगी 400 का आंकड़ा, क्या बोले दिल्ली के भाजपा उम्मीदवार?

लोकसभा चुनाव में भाजपा ने दिल्ली में बदले 4 टिकट

kamaljeet and bansuri swaraj
Loksabha election 2024 : भाजपा ने लोकसभा चुनावों के लिए 195 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी। दिल्ली से 4 भाजपा सांसदों का टिकट काटकर नए चेहरों को मौका दिया गया है। दिल्ली की 5 लोकसभा सीट पर घोषित उम्मीदवारों ने दावा किया कि NDA प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अच्छे काम के बलबूते 400 का आंकड़ा पार कर जाएगा।
भाजपा की पूर्व दिग्गज नेता सुषमा स्वराज की बेटी बांसुरी स्वराज ने उन्हें जिम्मेदारी देने के लिए प्रधानमंत्री मोदी, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा और पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं और कार्यकर्ताओं को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि मैंने इस जिम्मेदारी को हल्के में नहीं लिया है। बांसुरी को भरोसा है कि राजग इस बार 400 सीटे जरूर जीतेगी।
 
पश्चिमी दिल्ली से भाजपा उम्मीदवार कमलजीत सहरावत ने कहा कि निर्वाचन क्षेत्र के लिए उनके नाम की घोषणा उनके लिए एक बड़ा आश्चर्य है। उन्होंने कहा कि ‘यह मेरे लिए बड़ी हैरानी वाली बात है। मैंने सोचा भी नहीं था कि यह अवसर मुझे दिया जाएगा और मैं पार्टी के किसी भी अन्य सामान्य कार्यकर्ता की तरह काम कर रही थीं।
 
चांदनी चौक से भाजपा उम्मीदवार प्रवीण खंडेलवाल ने विश्वास जताया कि वह रिकॉर्ड अंतर से जीतेंगे। उन्होंने कहा कि चांदनी चौक सीट पर कोई चुनौती नहीं है क्योंकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा किया गया काम खुद बोलता है। इस बार लोकसभा चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद हम 400 का आंकड़ा पार कर लेंगे।
 
उत्तर पूर्वी दिल्ली से दो बार के सांसद मनोज तिवारी को तीसरी बार इस क्षेत्र से पार्टी का उम्मीदवार घोषित किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी सभी के लिए उम्मीद का केंद्र बन गए हैं।
 
दक्षिण दिल्ली सीट से भाजपा द्वारा मैदान में उतारे गए रामवीर सिंह बिधूड़ी ने आम चुनाव लड़ने का मौका दिए जाने पर प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा के शीर्ष नेताओं को धन्यवाद दिया।
Edited by : Nrapendra Gupta 
ये भी पढ़ें
महाराष्‍ट्र में उलझे सियासी समीकरण, लोकसभा की 48 सीटों पर क्यों मुश्किल हुआ टिकट वितरण?