• Webdunia Deals
  1. चुनाव 2024
  2. लोकसभा चुनाव 2024
  3. लोकसभा चुनाव समाचार
  4. Jairam Ramesh targets Prime Minister Modi
Last Updated :नई दिल्ली , बुधवार, 15 मई 2024 (18:58 IST)

PM मोदी पर जयराम रमेश ने साधा निशाना, पूछा क्‍या BJP की वॉशिंग मशीन कभी बंद होगी

Jairam Ramesh
Jairam Ramesh targets Prime Minister Modi : कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महाराष्ट्र में जनसभा के मद्देनजर प्रदेश के कई विपक्षी नेताओं के दलबदल करने को लेकर बुधवार को उन पर निशाना साधा और सवाल किया कि क्या भारतीय जनता पार्टी की वॉशिंग मशीन कभी बंद होगी? कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने सवाल किया कि महाराष्ट्र में भाजपा सरकार राज्य के आदिवासी समुदायों के अधिकार क्यों छीन रही है?
 
भाजपा ने आदिवासियों के वन अधिकारों को क्यों कमज़ोर किया : प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को महाराष्ट्र के डिंडोरी में चुनावी सभा को संबोधित किया। कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने उनकी सभा का हवाला देते हुए ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, भाजपा ने महाराष्ट्र में आदिवासियों के वन अधिकारों को क्यों कमज़ोर किया है? क्या भाजपा की वॉशिंग मशीन कभी घूमना बंद करेगी? महाराष्ट्र में निर्माण क्षेत्र में कार्य करने वाले श्रमिकों की मौत के मामले में तीन गुना वृद्धि क्यों हुई?
उन्होंने कहा, वर्ष 2006 में कांग्रेस ने क्रांतिकारी वन अधिकार अधिनियम पारित किया, जिसके बाद आदिवासियों का वर्षों का संघर्ष समाप्त हुआ था। इस कानून ने आदिवासियों और वन में रहने वाले अन्य समुदायों को अपने ख़ुद के जंगलों का प्रबंधन करने और उनसे प्राप्त उपज से आर्थिक रूप से लाभ उठाने का कानूनी अधिकार दिया था। लेकिन भाजपा सरकार इस कानून के कार्यान्वयन में बाधा डालती रही है, जिससे लाखों आदिवासी इसके लाभों से वंचित हो रहे हैं।
 
आदिवासी समुदायों के अधिकार क्यों छीन रही भाजपा सरकार : रमेश ने सवाल किया कि महाराष्ट्र में भाजपा सरकार राज्य के आदिवासी समुदायों के अधिकार क्यों छीन रही है? उन्होंने महाराष्ट्र में कांग्रेस और विपक्ष के कई नेताओं के पाला बदलने का हवाला देते हुए कहा, भाजपा ने अब सार्वजनिक रूप से महाराष्ट्र में नेताओं को आयात करने के लिए अपनी वॉशिंग मशीन का इस्तेमाल करने की बात स्वीकार कर ली है।
उन्होंने कहा, कई भाजपा नेताओं की तरह, भाजपा के पूर्व सांसद किरीट सोमैया ने रवींद्र वायकर, यामिनी जाधव और नारायण राणे के ख़िलाफ़ भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे। इन्हें ईडी और महाराष्ट्र भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की जांच का सामना भी करना पड़ा था। इसके तुरंत बाद, ये सभी नेता महायुति गठबंधन में शामिल हो गए। रमेश ने सवाल किया कि क्या निवर्तमान प्रधानमंत्री इस तरह से भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ लड़ाई लड़ रहे हैं? (भाषा)
Edited By : Chetan Gour नई दिल्ली