लोकसभा चुनाव 2019 : सभी 7 चरणों में 67 प्रतिशत मतदान, 2014 में हुआ था 66 प्रतिशत

Last Updated: सोमवार, 20 मई 2019 (08:06 IST)
नई दिल्ली। सातवें और आखिरी चरण में कुछ स्थानों पर हिंसा की छिटपुट घटनाओं के बीच रविवार को 7 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश की 59 सीटों पर लगभग 64 प्रतिशत हुआ और इसके साथ ही 17वीं लोकसभा का चुनाव संपन्न हो गया। सभी 7 चरणों में 542 सीटों के लिए कुल मिलाकर करीब 67 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले। वर्ष 2014 के चुनाव में 66.30 प्रतिशत मतदान हुआ था।
के अनुसार वर्ष 2014 की तुलना में इस बार चुनाव अधिक शांतिपूर्ण रहा। पहले 6 चरणों में मतदान का राष्ट्रीय औसत 67.37 प्रतिशत रहा। पहले चरण में 69.61 प्रतिशत, दूसरे चरण में 69.44, तीसरे चरण में 68.40, चौथे चरण में 65.51, पांचवें चरण में 64.16 और छठे चरण में 64.40 प्रतिशत मतदान हुआ था। सातवें चरण में अंतिम सूचना मिलने तक 63.89 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। अंतिम आंकड़े आने पर इसमें और वृद्धि हो सकती है।
पिछली बार की तुलना में मतदान में इस बार 4.1 करोड़ अधिक महिलाओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। पुरुषों और महिलाओं के बीच मतदान का अंतर 2009 से लगातार कम होता जा रहा है। वर्ष 2009 में यह अंतर 9 प्रतिशत था, जो 2014 में 1.46 प्रतिशत तथा इस बार 0.4 प्रतिशत रह गया है।

चुनाव आयोग के अनुसार पश्चिम बंगाल और पंजाब में कुछ जगहों पर हिंसा की छिटपुट घटनाओं को छोड़कर मतदान शांतिपूर्ण रहा। राज्य में रविवार को नौ सीटों पर हुए मतदान में कई जगह बम फेंके जाने और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल तथा मतदाताओं के बीच झड़प की घटनाएं हुईं, लेकिन हिंसा की कोई बड़ी घटना नहीं हुई।
अंतिम चरण में सबसे अधिक 75.11 प्रतिशत मतदान मध्यप्रदेश में हुआ। पश्चिम बंगाल में 73.51 प्रतिशत, झारखंड में 71.16 प्रतिशत, हिमाचल प्रदेश में 70.40 प्रतिशत, केन्द्र शासित चंडीगढ़ में 71.16 प्रतिशत, पंजाब में 64.45 प्रतिशत, उत्तरप्रदेश में 58.01 प्रतिशत तथा बिहार में 53.36 प्रतिशत वोट पड़े।

सातवें चरण में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, केन्द्रीय मंत्रियों- रविशंकर प्रसाद, हरसिमरत कौर बादल, हरदीपसिंह पुरी, मनोज सिन्हा और आरके सिंह की चुनावी किस्मत ईवीएम में कैद हो गई। इनके अलावा इस चरण में झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री शिबू शोरेन, शत्रुघ्न सिन्हा, अनुराग ठाकुर, बीबी जागीर कौर, पवन बंसल, किरण खेर, मीसा भारती, सनी देओल, अतुल कुमार अंजान, महेन्द्रनाथ पांडेय और अनुप्रिया पटेल समेत कई प्रमुख नेताओं के चुनावी भाग्य का फैसला भी होना है।
प्राप्त सूचना के अनुसार, पश्चिम बंगाल में सोनापुर के कुलोगाछी में करीब 50 ईवीएम में तकनीकी खराबी के कारण पहले तीन घंटे तक कोई मतदान नहीं हुआ। बशीरहाट, डायमंड हार्बर, कोलकाता उत्तर, कोलकाता दक्षिण और दमदम संसदीय क्षेत्र के कुछ बूथों पर भी ईवीएम में तकनीकी गड़बड़ियां आने की शिकायतें मिलीं।

भाजपा कार्यकर्ताओं ने जादवपुर लोकसभा क्षेत्र में तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर फर्जी मतदान करने का आरोप लगाया। वहां से भाजपा उम्मीदवार अनुपम हाजरा की कार को कुछ लोगों ने क्षतिग्रस्त कर दिया।

बशीरहाट से भाजपा उम्मीदवार सयातन बासु ने आरोप लगाया है कि तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता लोगों को वोट देने से रोक रहे हैं। कोलकाता उत्तर संसदीय क्षेत्र के रवीन्द्र सारणी में एक मोटरसाइकल पर सवार दो बदमाशों ने बम फेंका, जिससे वहां अफरा-तफरी मच गई और मतदाताओं में तनाव फैल गया।
उत्तर प्रदेश के चंदौली में भाजपा और समाजवादी पार्टी समर्थकों के बीच फर्जी मतदान को लेकर हल्की झड़प हुई। वहां मौजूद सुरक्षा बलों ने दोनों दलों के समर्थकों को खदेड़ दिया। प्रधानमंत्री के निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी में कुछ मतदान केंद्रो में ईवीएम की खराबी और बिजली की समुचित व्यवस्था नहीं होने से कुछ समय के लिए मतदान प्रभावित रहा।

पंजाब में हिंसा : पंजाब में खडूर साहिब लोकसभा क्षेत्र के गांव सरली में मतदान के बाद झगड़े में अकाली कार्यकर्ता ने कांग्रेसी कार्यकर्ता पर हथियारों से हमला कर दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। मृतक की शिनाख्त बंटी के तौर पर की गई है।

गुरदासपुर में कोट मोहन गांव में अकाली-कांगेस कार्यकर्ताओं की झड़प में चार लोग घायल हो गए। बठिंडा लोकसभा क्षेत्र के तलवंडी साबो में कुछ व्यक्तियों ने एजेंट के बूथ को तहस-नहस कर दिया, जिससे इलाके में तनाव बना हुआ है। बठिंडा के रामपुराफूल में कांग्रेस तथा अकाली झड़पों में आठ अकाली कार्यकर्ता घायल हो गए।
इसी दौरान गोली चलाए जाने से एक व्यक्ति घायल हो गया। फरीदकोट में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पूर्व अकाली मंत्री सिकंदरसिंह मलूका की गाड़ी से तोड़फोड़ की जिसमें मलूका बाल-बाल बच गए। तरनतारन में अकाली-कांग्रेस कार्यकर्ताओं की झड़प में कांग्रेस समर्थक बंटी की मौत हो गई।
बिहार में पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र के वेटनरी कॉलेज स्थित मतदान केंद्र संख्या 160 से मतदान कर लौट रहे राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव के ज्येष्ठ पुत्र एवं विधायक तेजप्रताप यादव के सुरक्षाकर्मियों और मीडिकर्मियों के बीच झड़प हो गई। यादव के बाउंसरों ने छायाकार रंजन राही की पिटाई कर दी।
आरा संसदीय क्षेत्र अंतर्गत बड़हरा विधानसभा क्षेत्र के एकौना गांव में मतदान के दौरान उग्र लोगों ने पुलिस पर पथराव कर दिया, जिससे दो पुलिसकर्मी घायल हो गए।

मध्यप्रदेश में झाबुआ जिले के पेटलावद विधानसभा क्षेत्र के उमरकोट मतदान केन्द्र में सुबह मतदान के दौरान भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। इस दौरान एक-दूसरे पर लाठियां भी भांजी गईं, हालांकि बाद में पुलिस के मौके पर पहुंच जाने के चलते मामला शांत हो गया।

 

और भी पढ़ें :