कमल हासन को महंगा पड़ा हिंदू आतंकी वाला बयान, अन्नाद्रमुक नेता ने दी जीभ काटने की धमकी

पुनः संशोधित मंगलवार, 14 मई 2019 (11:44 IST)
नई दिल्ली। एक्टिंग की दुनिया से हाल ही में राजनीति में आए ने नाथूराम गोडसे को पहला हिंदू आतंकी बताए जाने पर बवाल मच गया। राजनीतिक जगत के साथ ही उन्हें सोशल मीडिया पर भी जमकर ट्रोल किया जा रहा है। इस बीच तमिलनाडु सरकार में मंत्री और अन्नाद्रमुक नेता केटी राजेंद्र बालाजी ने एक ओर विवादास्पद बयान देते हुए कहा कि इस तरह की बयानबाजी के लिए कमल हासन की जीभ काट देनी चाहिए।
बयान से नाराज बालाजी ने कमल हासन की पार्टी मक्कल नीधि मैयम (एमएनएम) पर पाबंदी लगाने का भी अनुरोध किया है। उन्होंने हासन पर अल्पसंख्यक वोट हासिल करने के लिए 'नाटक करने' का आरोप लगाया। मंत्री ने कहा कि आप जहर क्यों उगल रहे हैं। हर शब्द जहर है। हिंसा के बीज बो रही हासन की पार्टी पर पाबंदी लगाई जानी चाहिए और चुनाव आयोग को उनके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।

इस मामले में अभिनेता विवेक ओबेरॉय ने भी कमल हासन को ट्रोल किया था। उन्होंने ट्वीट कर कहा था, 'प्रिय कमल सर, आप बहुत बड़े कलाकार हैं। जैसे कला का कोई धर्म नहीं होता ठीक वैसे ही आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता। आप कह सकते हैं कि गोडसे आतंकवादी था, लेकिन आपने हिंदू शब्द का इस्तेमाल क्यों किया? इसलिए कि आप मुस्लिम बहुल इलाके में वोट हासिल करने की कोशिश कर रहे थे?'
उल्लेखनीय है कि कमल हासन ने तमिलनाडु में एक चुनावी रैली में कहा था कि स्वतंत्र भारत का पहला अतिवादी हिंदू था, जिसका नाम है नाथूराम गोडसे। गोडसे ने 1948 में महात्मा गांधी की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

 

और भी पढ़ें :