हिटमैन ने तोड़ा कोहली-कपिल का रिकॉर्ड, कप्तानी में जीता 10वां वनडे

Last Updated: गुरुवार, 10 फ़रवरी 2022 (14:44 IST)
हमें फॉलो करें
वेस्टइंडीज और भारत के बीच के में जारी सीरीज रोहित शर्मा की कप्तानी के लिए जानी जाएगी। बतौर पूर्णकालिक कप्तान रोहित की यह पहली श्रृंखला जीत है।

इस सीरीज में रोहित शर्मा ने कमाल की कप्तानी की है। पहले वनडे में टॉस जीतकर गेंदबाजी की क्योंकि उन्होंने पढ़ लिया था कि गेंद पिच से रूककर आएगी और टर्न लेगी, नतीजा यह हुआ कि इंडीज 176 रनो पर सिमट गई।

दूसरे वनडे में 237 रन बनाने के बावजूद रोहित शर्मा ने देखा कि पिच हरकत कर रही है और प्रसिद्ध कृष्ना को तुरंत गेंद थमाई। प्रसिद्ध ने कप्तान को निराश नही किया और 2 ओवरों में 2 विकेट लेकर इंडीज को बैकफुट पर धकेला।

यही नहीं रोहित शर्मा ने पहले वनडे की तरह दूसरे वनडे में भी बतौर कप्तान डीआरएस का शत प्रतिशत रिकॉर्ड कायम रखा। पहले वनडे में रोहित के तीनों तो दूसरे वनडे में एक रिव्यू कामयाब रहा और अंपायर को अपना फैसला बदलना पड़ा।

कोहली और कपिल से निकले आगे

इस सीरीज से पहले रोहित शर्मा 10 वनडे मैचों में भारत को 8 जीत दिला चुके थे। दूसरे वनडे की जीत के बाद रोहित शर्मा सबसे कम मैचों में 10 जीत दिलाने वाले भारत के कप्तान वह बन गए।

विराट कोहली को भी 10 वनडे जीत दिलाने में 13 वनडे लगे थे। कोहली के बाद लिस्ट में कपिल देव (15), मोहम्मद अजरुद्दीन (17), सौरव गांगुली (19), राहुल द्रविड़ (20), एमएस धोनी (22), सचिन तेंदुलकर (29) और सुनील गावस्कर (33) का नाम आता है।

रोहित की कप्तानी का जीत प्रतिशत 83.33 रहा है।
कुल रिकॉर्ड्स को देखा जाए तो पहले वनडे में 10 वनडे की जीत प्रतिशत में न्यूजीलैंड के कीपर और कप्तान टॉम लेथम 84.61 और ऑस्ट्रेलिया के पूर्व स्पिनर और कप्तान शेन वॉर्न 90.90 उनसे आगे हैं।
Koo App
now holds the record of taking least number of matches to win the first 10 ODIs as an Indian captain. #INDvsWI

- Chandler Bing (@Sarcasm007) 9 Feb 2022

रैंकिंग में भी पहुंच गए हैं कोहली के करीब

भारत की सफेद क्रिकेट टीम के कप्तान रोहित शर्मा और पूर्व कप्तान विराट कोहली बुधवार को जारी आईसीसी की ताजा वनडे बल्लेबाजी रैंकिग में क्रमश: तीसरे और दूसरे स्थान पर बरकरार हैं।

वेस्टइंडीज के खिलाफ रविवार को पहले वनडे मैच में खेली 60 रन की पारी के बाद रोहित शर्मा के 807 अंक हो गए हैं और वह विराट कोहली के और करीब आ गए हैं, जो 828 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर मौजूद हैं।रोहित ने वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन मैचों की सीरीज के पहले वनडे मैच में अपनी अर्धशतकीय पारी से अहम रेटिंग अंक हासिल किये।

पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम हालांकि 873 अंकों के साथ शीर्ष पर बने हुए हैं। वहीं दक्षिण अफ्रीका के क्विंटन डी कॉक 783 अंकों और ऑस्ट्रेलिया के वाइट बॉल कप्तान आरोन फिंच 779 अंक के साथ क्रमश: चौथे और पांचवे स्थान पर मौजूद हैं।भारत के खिलाफ पहले वनडे में आठ रन बनाने वाले वेस्टइंडीज के शाई होप शीर्ष 10 से बाहर हो गए। बाबर के 873 पॉइंट हैं। दक्षिण अफ्रीका के विकेटकीपर बल्लेबाज क्विंटन डिकॉक चौथे और ऑस्ट्रेलिया के कप्तान आरोन फिंच 5वें नंबर पर हैं।

गेंदबाजी में शानदार प्रदर्शन किया, सूर्यकुमार और राहुल के बीच भागीदारी अहम थी : कप्तान रोहित

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने बुधवार को यहां वेस्टइंडीज के खिलाफ तीन मैचों की वनडे श्रृंखला में अजेय बढ़त बनाने के बाद अपने गेंदबाजों के प्रदर्शन की सराहना की और साथ ही सूर्यकुमार यादव और केएल राहुल के बीच 91 रन की साझेदारी को अहम करार दिया।

बतौर पूर्णकालिक कप्तान रोहित की यह पहली श्रृंखला जीत है। वेस्टइंडीज को दूसरे वनडे में 44 रन से शिकस्त देने के बाद रोहित ने कहा, ‘‘श्रृंखला जीतना हमेशा अच्छा अहसास होता है, इसमें कोई शक नहीं। आज हमने कुछ चुनौतियों का सामना किया और इनसे निपटते हुए सम्मानजनक स्कोर खड़ा किया जो महत्वपूर्ण था। ’’

शीर्ष क्रम के चरमराने के बाद सूर्यकुमार (64) और राहुल (49) के बीच साझेदारी के बारे में उन्होंने कहा, ‘‘हमें इसी परिपक्वता की जरूरत है। सम्मानजनक स्कोर के लिये यह अहम थी। ’’

रोहित ने कहा, ‘‘पूरी इकाई ने एकजुट होकर प्रदर्शन किया। इन खिलाड़ियों के लिये ऐसी परिस्थितियों में बल्लेबाजी करना महत्वपूर्ण है। तभी आप उन्हें पहचान सकते हो। आज की पारी सूर्यकुमार का आत्मविश्वास बढ़ायेगी। पिच पर बल्लेबाजी करना आसान नहीं था। उसने बल्लेबाजी की और जो टीम चाहती थी वो किया। राहुल ने भी और अंत में दीपक हुड्डा ने भी। ’’

ऋषभ पंत को पारी का आगाज कराने पर उन्होंने कहा, ‘‘मुझसे कहा गया कि कुछ अलग करो, इसलिये यह अलग था। लोग ऋषभ को पारी शुरू करते हुए देखकर खुश होंगे लेकिन हां, यह स्थायी नहीं है। अगले मैच में हमारे पास शिखर धवन होंगे। ’’

रोहित ने साथ ही कहा, ‘‘भाग्यशाली रहे कि ओस नहीं थी। मैं गेंदबाजों से उनका श्रेय नहीं छीन रहा, विशेषकर प्रसिद्ध कृष्णा से। पूरा श्रेय गेंदबाजों को जाता है। ’’




और भी पढ़ें :