बुमराह की टेस्ट क्रिकेट में पहली हैट्रिक, जानिए इस खतरनाक गेंदबाज से जुड़ीं 10 खास बातें

वेबदुनिया न्यूज डेस्क| Last Updated: रविवार, 1 सितम्बर 2019 (09:25 IST)
भारत और वेस्टइंडीज के बीच जमैका के सबीना पार्क मैदान पर खेले जा रहे दूसरे और आखिरी टेस्ट मैच में भारतीय तेज गेंदबाज ने शानदार गेंदबाजी करते हुए हैट्रिक ली है। यह उनके करियर की पहली हैट्रिक है।
- बुमराह इस हैट्रिक के साथ टेस्ट क्रिकेट में हैट्रिक लेने वाले तीसरे भारतीय गेंदबाज बन गए हैं। इससे पहले इरफान पठान और हरभजन सिंह टेस्ट क्रिकेट में हैट्रिक ले चुके हैं।
- बुमराह ने चौथे ओवर में हैट्रिक लेते हुए डैरेन ब्रावो, शमारा ब्रूक्स और रोस्टन चेज को आउट किया। वे वेस्टइंडीज की पहली पारी में 5 बल्लेबाजों को पैवेलियन का रास्ता दिखला चुके हैं।
ALSO READ:
हनुमा विहारी का टेस्ट क्रिकेट में पहला शतक, जानिए उनसे जुड़ीं खास बातें

- उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच की दूसरी पारी में भी 7 रन की कीमत पर वेस्टइंडीज के 5 बल्लेबाजों को पैवेलियन की राह दिखलाई थी।
- बुमराह ने ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका के बाद अब वेस्टइंडीज के विरुद्ध एक पारी में 5 विकेट हासिल किए हैं। उनसे पहले कोई भी एशियाई गेंदबाज इस तरह की कामयाबी हासिल नहीं कर सका है।
- यह भारतीय तेज गेंदबाज अब तक 12 टेस्ट मैचों में 61 विकेट हासिल कर चुका है। यह कारनामा करने वाले वह पहले भारतीय तेज गेंदबाज हैं।
- दुनिया के सबसे घातक गेंदबाज माने जाने वाले जसप्रीत बुमराह को इस वर्ष इंडियन क्रिकेट हीरोज पुरस्कारों के पहले संस्करण में 'क्रिकेटर ऑफ द ईयर' भी चुना गया।
- बुमराह ने जनवरी 2016 में वनडे और टी 20 क्रिकेट में पर्दापण किया था। जनवरी 2018 में उनका टेस्ट करियर शुरू हुआ था। वह क्रिकेट के तीनों ही फॉर्मेट में विकेटों का अर्धशतक बना चुके हैं।
- दुनिया के सभी दिग्गज बल्लेबाज इस तेज गेंदबाज का लोहा मान चुके हैं। वह बेहद किफायती अंदाज में गेंदबाजी के लिए जाने जाते हैं। उनके खिलाफ रन बनान आसान नहीं है।
- बाएं हाथ के सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाजों में शुमार वसीम अकरम ने भी भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की तारीफ करते हुए कहा था कि मौजूदा क्रिकेटरों में उनका यार्कर सबसे सटीक है।
- भारत के गेंदबाजी कोच भरत अरूण भी मानते हैं कि बुमराह के अपरंपरागत गेंदबाजी एक्शन ने उन्हें विश्व क्रिकेट के सबसे खतरनाक तेज गेंदबाजों में से एक बना दिया है क्योंकि विपक्षी टीम के बल्लेबाज के लिए उनकी गेंदों को समझना काफी मुश्किल हो जाता है।

 

और भी पढ़ें :