शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. व्यापार
  3. समाचार
  4. effect of hindenburg report on adani group
Written By
Last Updated : शनिवार, 28 जनवरी 2023 (11:03 IST)

हिंडनबर्ग की रिपोर्ट से हिला अडाणी का साम्राज्य, मार्केट वैल्यू 4 लाख करोड़ रुपए घटी, FPO ने भी किया निराश

हिंडनबर्ग की रिपोर्ट से हिला अडाणी का साम्राज्य, मार्केट वैल्यू 4 लाख करोड़ रुपए घटी, FPO ने भी किया निराश - effect of hindenburg report on adani group
नई दिल्ली। अमेरिकी वित्तीय शोध कंपनी हिंडनबर्ग की शेयरों में धोखाधड़ी संबंधी रिपोर्ट के बाद अडाणी ग्रुप का साम्राज्य हिल गया है। ग्रुप की मार्केट वैल्यू 4 लाख करोड़ रुपए से कम हो गई। अडाणी एंटरप्राइजेज के FPO ने भी आवेदन के पहले दिन कंपनी को खासा निराश किया। इतना ही नहीं अमीरों की सूची में गौतम अडाणी तीसरे स्थान से फिसलकर 7वें नंबर पर पहुंच गए। उनकी संपत्ति में 22.6 अरब डालर की गिरावट दर्ज की गई।
 
टॉप 50 कंपनियों में 7 अडाणी की है। रिपोर्ट की वजह से अडाणी समूह की सभी कंपनियों के शेयरों में भारी गिरावट आई। अडाणी टोटल गैस के शेयर 20%, अडाणी ट्रांसमिशन के शेयर 19.99%, अडाणी इंटरप्राइजेस के शेयर 18.52%, अडाणी पोर्टस के शेयर 16.03%, अंबुजा सीमेंट के शेयरों में 17.16 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई। अडाणी पॉवर और अडाणी विल्मर के शेयर भी 5 प्रतिशत गिर गए। कंपनी का मार्केट कैप 4.17 लाख करोड़ रुपए से कम हो गया।  
 
FPO को भी मिला कम अनुदान : अडाणी समूह की प्रमुख कंपनी अडाणी एंटरप्राइजेज के अनुवर्ती सार्वजनिक निर्गम (FPO) को शुक्रवार को आवेदन के पहले दिन केवल एक प्रतिशत अभिदान मिला। अमेरिकी वित्तीय शोध कंपनी हिंडनबर्ग रिसर्च की रिपोर्ट के बाद अडाणी एंटरप्राइजेज समेत समूह की सभी कंपनियों के शेयरों में बड़ी गिरावट दर्ज की गई। शेयर बाजार बीएसई पर उपलब्ध सूचना के अनुसार अडाणी एंटरप्राइजेज लि. के एफपीओ के पहले दिन 4.55 करोड़ शेयर के बदले केवल 4.7 लाख शेयरों के लिए ही बोली आई। कंपनी ने एफपीओ के लिए कीमत दायरा 3,112 से 3,276 रुपए प्रति शेयर रखा हुआ है। हालांकि शुक्रवार को इसका शेयर बीएसई में 2,762.15 रुपये के भाव पर बंद हुआ।
 
अमीरों की सूची में 7वें नंबर पर पहुंचे अडाणी : शेयरों में आई गिरावट के चलते अडाणी समूह के चेयरमैन गौतम अडाणी की संपत्ति में भारी गिरावट आई है। 1 दिन में ही उनकी संपत्ति लगभग 19 प्रतिशत गिरकर 96.6 अरब डॉलर ही रह गई। फोर्ब्स की रियल टाइम बिलेनियर्स की लिस्ट में अडाणी 7वें नंबर पर पहुंच गए।
 
सेबी तेज करेगा समूह के सौदों की जांच : सेबी भी हिंडनबर्ग की रिपोर्ट का अध्ययन कर रहा है। वह इसका उपयोग अडाणी समूह की ऑफशोर होल्डिंग जांच में कर सकता है। इधर कांग्रेस ने भी सेबी और आरबीआई से अडाणी ग्रुप के खिलाफ लगे वित्तिय आरोपों की जांच करने को कहा है। 
 
क्या हुआ शेयर बाजार पर असर : डिंडनबर्ग के रिपोर्ट से भारतीय शेयर बाजार पर भी नकारात्मक असर हुआ। सेंसेक्स शुक्रवार को 59,331 अंक पर बंद हुआ यह 3 माह का निचला स्तर है। निफ्टी भी एक दिन में 288 गिर गया। यह 23 दिसंबर के बाद निफ्टी में एक दिन में सबसे बड़ी गिरावट थी।
 
रिपोर्ट पर अड़ा हिंडनबर्ग : कंपनी की साख बुरी तरह गिरने के बाद अडाणी ग्रुप ने हिंडनबर्ग के खिलाफ कानून कार्रवाई करने की धमकी दी है। कंपनी ने आरोपों को तथ्‍यों से परे बताते हुए कहा कि समूह की 8 कंपनियों का ऑडिट दुनिया के 6 सबसे बड़ी कंपनियों में से एक करती है। हालांकि वित्तीय शोध कंपनी भी अपनी रिपोर्ट पर अड़ी हुई है।