बाघों पर आई बर्बादी, सुरक्षित नहीं रहा सुंदरबन...

Author संदीपसिंह सिसोदिया| Last Updated: बुधवार, 20 नवंबर 2019 (13:01 IST)
बाघों को बचाने के लाख जतन और दावे करने के बाद भी एक भयावह खबर आई है। भारत और बांग्लादेश में स्थित बाघों की प्रसिद्ध शरणस्थली में मात्र 180 बचे हैं। इसके पहले हुई गिनती में इस क्षेत्र में 440 बाघों की मौजूदगी का दावा किया गया था। इसमे से सुंदरबन के भारतीय क्षेत्र में केवल 74 बाघ पाए गए हैं और बांग्लादेश वाले क्षेत्र में 106 बाघों के होने की पुष्टि हुई है।  Read more :- सुंदरबन के आखिरी रक्षक> >
  
बताया जा रहा है कि इस बार बाघों की गिनती अत्याधुनिक तरीकों जैसे सेंसर आधारित ट्रेप कैमरों के जरिए हुई है। इसके पहले परंपरागत पग मार्क विधि से बाघों की गिनती की जाती थी जो सटीक परिणाम नहीं दे पाती थी। वहीं सुंदरबन में कार्यरत कई वन्यजीव विशेषज्ञ बाघों की संख्या में आई भारी गिरावट के लिए अवैध शिकार को जिम्मेदार मानते हैं। 


और भी पढ़ें :