बच्चों को लुभाएगी गर्मी की यह खास कविता : बड़ा मजा है

school

गर्मी के दिनों पर बाल कविता :
बड़ा मजा है! गर्मी है!!
- डॉ. देवव्रत जोशी
बड़ा मजा है! गर्मी है!!
उड़े भले कितनी ही धूल,
हमें न अब जाना स्कूल,
किरणें नभ से गरम, झरें,
हम तो घर में मौज करें।

लस्सी-शरबत-ठंडाई,
पियो खूब, गर्मी आई!
सड़कों पर है सन्नाटा-
मारे लू सबको चांटा-
दुबके रहे घरों में यार,
शाम ढले, घूमो बाजार।

लेटो करके आंखें बंद,
आज अभी कर लो आनंद।
कहता कौन, 'सजा' है बंधु,
गर्मी बड़ा मजा है बंधु!

 

और भी पढ़ें :