नटखट कविता : पोहे बनाम मैगी

breakfast
कृष्ण वल्लभ पौराणिक|
हमें फॉलो करें
नहीं चाहिए मुझको पोहे
राधिका गुर्राई
इसे देखकर उसकी मम्मी
ने मैगी बनवाई ...1
पोहे बोले अरे! रा‍धिका!
हम चावल के भाई
तुमने क्यों ठुकराया हमको
अच्छा ना है भाई ...2
 
मध्य वर्ग में हम प्यारे हैं
निम्न वर्ग के साथी
उच्च वर्ग क्यों कटता हमसे
नहीं समझ में आती ...3
 
तुम तो मध्य वर्ग की लड़की
चिढ़ हमसे क्यों रखती?
दाने अनार अंगूर डाल
सजी प्लेट जब लगती ...4
 
एक बार तुम चख लो हमको
कभी नहीं छोड़ोगी
मम्मी से फिर बार-बार तुम
हमको ही मांगोगी ...5



और भी पढ़ें :